logo
Home Literature Poetry Geetanjali
product-img
Geetanjali
Enjoying reading this book?

Geetanjali

by Ravindranath Tagore
4.2
4.2 out of 5

publisher
Creators
Author Ravindranath Tagore
Publisher Radhakrishna Prakashan
Synopsis ‘गीतांजलि’ गुरुदेव रविंद्रनाथ टैगोर (1861-1941) की सर्वाधिक प्रशंसित और पठित पुस्तक है ! इसी पर उन्हें 1913 में विश्वप्रसिद्द नोबेल पुरस्कार भी मिला ! इसके बाद अपने पुरे जीवनकाल में वे भारतीय साहित्याकाश पर छाए रहे ! साहित्य की विभिन्न विधाओं, संगीत और चित्रकला में सतत सृजनरत रहते हुए उन्होंने अंतिम साँस तक सरस्वती की साधना की और भारतवासियों के लिए ‘गुरुदेव’ के रूप में प्रतिष्ठित हुए ! प्रकृति, प्रेम, इश्वर के प्रति निष्ठा, आस्था और मानवतावादी मूल्यों के प्रति समर्पण भाव से संपन्न ‘गीतांजलि’ के गीत पिछली एक सदी से बांग्लाभाषी जनों की आत्मा में बसे हुए हैं ! विभिन्न भाषाओँ में हुए इसके अनुवादों के माध्यम से विश्व-भर के सहृदय पाठक इसका रसास्वादन कर चुके हैं ! प्रतुत अनुवाद हिंदी में अब तक उपलब्ध अन्य अनुवादों से इस अर्थ में भिन्न है कि इसमें मूल बांग्ला रचनाओं की गीतात्मकता को बरक़रार रखा गया है, जो इन गीतों का अभिन्न हिस्सा है ! इस गेयता के कारण आप इन गीतों को याद रख सकते हैं, गा सकते हैं !

Enjoying reading this book?
Binding: HardBack
About the author
Specifications
  • Language: Hindi
  • Publisher: Radhakrishna Prakashan
  • Pages: 163
  • Binding: HardBack
  • ISBN: 9788171198832
  • Category: Poetry
  • Related Category: Literature
Share this book Twitter Facebook


Suggested Reads
Suggested Reads
Books from this publisher
Surangama by Gaura Pant Shivani
Ghar Ki Vyawastha Kaise Karen by Dr. Ram Krishna
Is Bhanwar Ke Paar by Shashi Shekhar Sharma
Gokul Mathura Dwarka by Raghuveer Chaudhary
Manavadhikaro ko Jaane Samjhe by Pratapmal Devpura
Yadon Ke Panchhi by P. E. Sonkamble
Books from this publisher
Related Books
Kabuliwala Ravindranath Tagore
Nyay Ravindranath Tagore
Masterji Ravindranath Tagore
Geetanjali Ravindranath Tagore
Nauva Geet Ravindranath Tagore
Geetanjali Ravindranath Tagore
Related Books
Bookshelves
Stay Connected