logo
Home Literature Literature Naye Shekhar ki Jeevani
product-img
Naye Shekhar ki Jeevani
Enjoying reading this book?

Naye Shekhar ki Jeevani

by Avinash Mishra
4.6
4.6 out of 5

publisher
Creators
Author Avinash Mishra
Publisher
Synopsis शेखर मूलतः कवि है और कभी-कभी उसे लगता है कि वह इस पृथ्वी पर आख़िरी कवि है। यह स्थिति उसे एक व्यापक अर्थ में उस समूह का एक अंश बनाती है, जहाँ सब कुछ एक लगातार में ‘अन्तिम’ हो रहा है। वह इस यथार्थ में बहुत कुछ बार-बार नहीं, अन्तिम बार कह देना चाहता है। वह अन्तिम रूप से चाहता है कि सब अन्त एक सम्भावना में बदल जाएँ और सब अन्तिम कवि पूर्ववर्तियों में। वह एक कवि के रूप में अकेला रह गया है, ग़लत नहीं है तो एक मनुष्य के रूप में अकेला रह गया है एक साथ नया और प्राचीन। वह जानता है कि वह जो कहना चाहता है, वह कह नहीं पा रहा है और वह यह भी जानता है कि वह जो कहना चाहता है उसे दूसरे कह नहीं पाएँगे। शेखर जब भी एक उल्लेखनीय शास्त्रीयता अर्जित कर सम्प्रेषण की संरचना में लौटा है, उसने अनुभव किया है कि सामान्यताएँ जो कर नहीं पातीं उसे अपवाद मान लेती हैं और जो उनके वश में होता है उसे नियम...। वह मानता है कि प्रयोग अगर स्वीकृति पा लेते हैं, तब बहुत जल्द रूढ़ हो जाते हैं। इससे जीवन-संगीत अपने सतही सुर पर लौट आता है। इसलिए वह ऐसे प्रयोगों से बचता है जो समझ में आ जाएँ। शेखर बहुत-सी भाषाएँ केवल समझता है, बोल नहीं पाता। शेखर पागल थोड़ा नहीं है, अर्थात् बहुत है।

Enjoying reading this book?
Binding: HardBack
About the author
Specifications
  • Language: Hindi
  • Publisher:
  • Pages:
  • Binding: HardBack
  • ISBN: 9789387889262
  • Category: Literature
  • Related Category: Literature
Share this book Twitter Facebook


Suggested Reads
Suggested Reads
Books from this publisher
Bhartiya Thal Sena MER Technical by Major RD. Ahluwalia
Pattern Writing Book Part 2 by Dreamland Publications
Man-The Spiritual: an Intercultural Expansion of Swami Vivekananda's Synthetic Vision of Humanity (2Nd Vol.) by Santi Nath Chattopadhyay
Exam Master CHSE Odisha Botany Class 12th by Poonam Singh
OPSC General Studies Paper II Preliminary Examination by Arihant Experts
Rajasthan Pradhyapak (School Shiksha) Chayan Pariksha 2015-2016 Paper 2 - SANSKRIT by Arihant Experts
Books from this publisher
Related Books
Thakkar Bapa Sweta Parmar ‘Nikki’
Samay Ke Shahar Mein Anamika
CTET/TETs SHIKSHAK PATRATA PARIKSHA VASTUNISTH HINDI BHASHA TEAM PRABHAT
Dalit Vaichariki Ki Dishaen Badri Narayan
BJP: Kal, Aaj Aur Kal Vijai Trivedi
Dr.laxminarayan Sharma Granthavali-5 Vols Om Anand Sarasvati
Related Books
Bookshelves
Stay Connected