logo
Home Nonfiction Nonfiction Mrityu-Katha
product-img
Mrityu-Katha
Enjoying reading this book?

Mrityu-Katha

by Ashutosh Bhardwaj
4.5
4.5 out of 5

publisher
Creators
Author Ashutosh Bhardwaj
Publisher Vani Prakashan
Synopsis मृत्यु-कथा - पिछले एक दशक से आशुतोष भारद्वाज माओवादियों और भारतीय सत्ता के बीच चल रहे गृह-युद्ध व इसके शिकार हुए आदिवासियों पर लिख रहे हैं। मृत्यु-कथा इस संग्राम के योद्धा और साक्षी बने इन्सानों की गाथा है। अनेक स्वरों में ख़ुद को कहती यह किताब दण्डकारण्य की जीवनी भी है, जो पत्रकारिता का अनुशासन, डायरी की आत्मीयता, निबन्ध की वैचारिकता और औपन्यासिक आख्यान की कला को एक साथ साधना चाहती है । माओवादी क्रान्ति के आईने से यह किताब हिंसा और फरेब, पाप और पुनरुत्थान के प्रत्यय पर चिन्तन करती है- साथ ही बतलाती है कि रणभूमि का जीवन और लेखन मनुष्य को किस क़दर भस्म करता है। देश के श्रेष्ठतम लेखकों और आलोचकों द्वारा प्रशंसित यह किताब अनेक पुरस्कारों से सम्मानित हो चुकी है। इसके अन्तरराष्ट्रीय संस्करण जल्द प्रकाशित हो रहे हैं।

Enjoying reading this book?
Binding: PaperBack
About the author
Specifications
  • Language: Hindi
  • Publisher: Vani Prakashan
  • Pages: 295
  • Binding: PaperBack
  • ISBN: 97893551881459
  • Category: Nonfiction
  • Related Category: Nonfiction
Share this book Twitter Facebook
Related Videos
Mr.


Suggested Reads
Suggested Reads
Books from this publisher
Subha -A-Vatan by Brijnarayan 'Chak Bast'
Kabeer Ki SaundaryaBhawana by Dr.Brijbushan Sharma
Aadhunik Geetikavya by Dr.Umashankar Tiwari
Bikharane ke Naam Par by Zafar Iqbal
Utho ! Himmat Karo, Age Badho by
Khule Pairon Ki Berian by Gyan Singh Maan
Books from this publisher
Related Books
Courts & Hunger Sanjay Parikh
Ab Ke Pahle Ab Ke Baad Taran Prakash Sinha
Ab Ke Pahle Ab Ke Baad Taran Prakash Sinha
Ek Kavi Ko Mangani Hoti Hai Kshma, Kabhi Na Kabhi (Kavi Ka Gadya) Nishikant & Kanupriya Devtale
Lhasa Ka Lahoo Conceptualization
Satra: Shabdon Ka Masiha Prabha Khetan
Related Books
Bookshelves
Stay Connected