logo
Home Literature Poetry Dayron Mein Phaili Lakeer
product-img product-img
Dayron Mein Phaili Lakeer
Enjoying reading this book?

Dayron Mein Phaili Lakeer

by Kishwar Naheed
4.4
4.4 out of 5

publisher
Creators
Author Kishwar Naheed
Publisher Vani Prakashan
Translator Pradeep 'Sahil'
Synopsis एक बुरी औरत की आत्मकथा से हिन्दी जगत में अपनी विशेष पहचान बनाने वाली पाकिस्तानी लेखिका क़िश्वर नाहिद का सम्बन्ध दरअसल उर्दू शायरी से रहा है। जीवन में संघर्ष और नैतिक दृष्टिकोण की वकालत करने वाली किश्वर ने जब अपने अहसास शायरी में बयाँ किए तो उर्दू शायरी में जैसे जलजला आ गया। ये वही समय था जब पाकिस्तान में जनरल ज़िया-उल-हक़ के फ़ौजी शासन का डंडा आम जनता के जीवन को त्रस्त कर रहा था। इसी समय में जब फ़हमिदा रियाज़, परवीन शाकिर, समीना राज़ा, शारा शगुफ़्ता और क़िश्वर नाहिद जैसी बेबाक महिला साहित्यकारों ने पाकिस्तानी शायरी के फलक पर दस्तक दी। इनके सबके अलग-अलग तेवर थे लेकिन एक बात सबमें समान थी कि सभी को अपने विषय की बोल्डनेस के साथ लगातार पाकिस्तान के संकुचित पुरुष सत्तात्मक साम्राज्य को चुनौती दे रही थी। क़िश्वर उर्दू शायरी में अपने समस्त बागियाना तेवर के साथ आयीं और देखते ही देखते ये बागी तेवर उन लोगों के लिए राहत और सुकून का पैगाम लेकर आये जो एक घुटन भरी ज़िन्दगी से बाहर निकलने को बेताब थे। क़िश्वर सियलसा या प्रतीकों में नहीं जीती बल्कि ये बागियाना बुरी औरत उनकी शायरी में आसानी से देखी जा सकती है जो धर्म, समाज, सत्ता, राजनीति से बेखौफ़ होकर युद्ध लड़ रही है और उसे किसी भी अच्छे-बुरे परिणाम की प्रतीक्षा नहीं है।

Enjoying reading this book?
Binding: PaperBack
About the author
Specifications
  • Language: Hindi
  • Publisher: Vani Prakashan
  • Pages: 88
  • Binding: PaperBack
  • ISBN: 9789352291229
  • Category: Poetry
  • Related Category: Literature
Share this book Twitter Facebook
Related Videos
Mr.


Suggested Reads
Suggested Reads
Books from this publisher
Arthvigyan by Dr. Braj Mohan
Hindi Ki Anistharta : Ek Etihasik Behas by Bharat Yayawar
Najma by Dhirendra Singh Jafa
Nibandhon Ki Duniya :Mahadevi Varma by Chif Editor : Nirmala Jain,Kusum Banthia
Saundarya : Vimarsh Aur Sar by Benedetto Croce
Uttar Yatharthvaad by Sudhish Pachauri
Books from this publisher
Related Books
Machhliyan Gayengi Ek Din Pandumgeet Poonam Vasam
Sambhal Bhi Na Paoge Surajpal Chauhan
Hindustan Sabka Hai Uday Pratap Singh
Chand Pe Chai Rajesh Tailang
Pratinidhi Kavitayen Kalicharan Snehi
Hanste Rahe Hum Udas Hokar Kishwar Naheed
Related Books
Bookshelves
Stay Connected