logo
Home Literature Poetry AhadnamaEMohabbat
product-img product-img
AhadnamaEMohabbat
Enjoying reading this book?

AhadnamaEMohabbat

by Saeed Ahmed
4.7
4.7 out of 5

publisher
Creators
Author Saeed Ahmed
Publisher Vani Prakashan
Translator Mirza A. B. Baig
Synopsis सईद अहमद ने दिलीप कुमार की ख़िदमत में अपना प्रेम प्रस्तुत करने का यह दिलचस्प अन्दाज अपनाया है कि उन्होंने उनकी कई फिल्मों को ‘सिल्वर स्क्रीन‘ की बजाय कागजों पर उतारा, जिनमें दिलीप कुमार ने अपनी आश्चर्यचकित कर देने वाली अदाकारी के जौहर दिखाये हैं। इस पुस्तक में उन संवादों और गीतों के वे शब्द तक मौजूद हैं जिनमें दिलीप कुमार ने अपने सर्वश्रेष्ठ होने का खूबसूरत इज़हार किया है। हर पटकथा कुछ ऐसे सलीके से पेश की गयी है कि वह साहित्यिक धरोहर कहलाने की हकदार हैं। कहानी पर गम्भीरता से समीक्षा की गयी है। और यूँ दिलीप कुमार की अदाकारी के अलावा फिल्म के निदेशक, कहानीकार व संवाद लेखन को लेखक ने खुलकर सराहा है। मेरी राय में फिल्म के किसी अदाकार बल्कि खुद फिल्म के फन की इतनी मालूमात बढ़ाने वाली और गहरी समीक्षा इससे पहले नहीं हुई। सईद अहमद की समीक्षा रचनात्मक फन के करीब जा पहुँची है। फिल्मी शौक रखने वाला इनसान दिलीप कुमार की भरपूर अदाकारी और जनता के प्रति उनसे प्यार को महसूस करता है कि यह शख़्स तो अपनी जिश्न्दगी ही में लिजेण्ड बन चुका है मगर इस व्यक्तित्व के अलावा उसके साथ जुड़ी बातों को भी बराबर की अहमियत देकर सईद अहमद ने हकीक़त और इन्साफ की एक मिसाल कायम कर दी है।

Enjoying reading this book?
HardBack ₹450
PaperBack ₹225
Print Books
About the author
Specifications
  • Language: Hindi
  • Publisher: Vani Prakashan
  • Pages: 280
  • Binding: HardBack
  • ISBN: 9789350004838
  • Category: Poetry
  • Related Category: Literature
Share this book Twitter Facebook
Related Videos
Mr.


Suggested Reads
Suggested Reads
Books from this publisher
Visheshan Prayog by Dr. Braj Mohan
Antim Kshitij Ka Pradesh by Dr. Sulabbha Kore
Sanyasi Aur Sundari by Yadvendra Sharma 'Chandra'
Hindi Kahani Ke Atharah Kadam by Batrohi
Aakhir kya Hua ? by Loknath Yashwant
Arthat by Amitabh Chaudhary
Books from this publisher
Related Books
Machhliyan Gayengi Ek Din Pandumgeet Poonam Vasam
Sambhal Bhi Na Paoge Surajpal Chauhan
Hindustan Sabka Hai Uday Pratap Singh
Chand Pe Chai Rajesh Tailang
Pratinidhi Kavitayen Kalicharan Snehi
Hanste Rahe Hum Udas Hokar Kishwar Naheed
Related Books
Bookshelves
Stay Connected