Content Linking

Online Stories, E Books, Audio Books, News, Articles, Podcasts

... Poem
स्त्री कहाँ रहती है

अस्पर्श स्त्री अपनी योनि में रहती है यह नानी ने अपनी माँ से सुना था उन्होंने...

... Poem
वयस में छोटा प्रेयस

वह कस कर जकड़ता है उसे अपने बाज़ुओं में और चाहता है कि प्रेयसी की देह पर छूट गए अनगिनत...

... Poem
प्रेम में स्त्री

वह जो असाधारण स्त्री है वह तुम्हारे प्रेम में पालतू हो जाएगी उसे रुचिकर लगेगी...

... Poem
ईश्वर होती देह

वहाँ किसी को जीतना नहीं है हार दोनों की तय है प्रेम के उत्कट क्षण ख़ुद को ख़ाली...

... Poem
अस्सी का दौर और एक अव्य

जबकि हममें से कइयों को इस बात पर भी दुविधा हो सकती है कि हम प्रेम की संतानें हैं...

... Poem
चंद्रिका स्थान

गाँव के सीमांत पर सदियों से खड़ा था एक बूढ़ा बरगद— किसी औघड़-सा अपनी जटाएँ फैलाएँ अपने...

... Story
जहाँ प्रार्थनारत हैं प

लौटना सिर्फ़ एक शब्द मात्र नहीं है इसके उच्चारण भर से लौटता है एक इतिहास अव्यस्थित...

... Story
बहनापा

किसी कामनावश नहीं मिले थे उनके होंठ सदियों से अतृप्त थीं वे शताब्दियों से निर्वासित देवों...

... Poem
यात्रा-कथा

पूर्वार्द्ध मैंने अपनी देह सहेजी और आत्मा को प्रताड़ित किया उसे अक्सर विषाद...

... Poem
महानगर में औरत

इस अनिश्चित जीवन में स्थायी बस सहेज लिए गए दुःख हैं वह रौशनी के लिए खोलती है खिड़कियाँ बाहर...

... Poem
हम आजकल कहीं नहीं रहते

हम स्मृतियों में लौटते हैं क्योंकि लौटने के लिए कहीं कुछ और नहीं वे सभी जगहें...

... Story
हो राम! चुन-चुन खाए

उस घर से जाते हुए अंजुलि भर अन्न लेना और पीछे की ओर उछाल देना पलट कर मत देखना पुत्री,...

... Poem
रिक्त स्थान

एक पुरुष ने लिखा दुख और यह दुनिया भर के वंचितों की आवाज़ बन गया एक स्त्री ने लिखा...

... Poem
इन ए पेपर वर्ल्ड

कुछ लोगों का कोई देश नहीं होता इस पूरी पृथ्वी पर ऐसी कोई चार दीवारों वाली छत नहीं...

... Poem
नींद एक मरहम है

जागते दिनों की तमाम साज़िशों के बाद नींद एक मरहम है यह हौले से आकर चुपचाप भरती...

... Poem
किसी अप्रेम-रात में

प्रेम-घातों को किससे कहे लड़की वह इश्क़ लिखे तो काग़ज़ पर फ़रेब उगे रोना मुफ़ीद नहीं...

... Poem
वर्जित समय में एक कवित

मृत्यु के पास आने के सौ दरवाज़े थे हमारे पास उससे बच सकने के लिए एक भी नहीं इस बार...

... Poem
एक अतिरिक्त अ-1

वे जो लय में नहीं, उनके सुर में नहीं मिला पाते अपनी आवाज़, उनमें भी दफ़न होता रहता...

... Poem
वह तुम ही हो पिता

माँ के लिए लिखी हर कविता में तुम एक अघोषित खलनायक थे पिता तुम्हारी बोली के कई...

... Poem
पति की प्रेमिका के नाम

सोचती हूँ कि तुम्हें एक घर तोड़ने का इल्ज़ाम दूँ या कि उस पुरुष के कहीं रिक्त रह...

... Ebook
वह साल बयालीस था

यह कहानी है अनाहिता की, एक यंग, फेमस पेंटर जो जीवन और प्रेम को समझने के प्रयास में...

... Ebook
Adiwasi Nahin Nachenge (Hindi Edition)

आदिवासी नहीं नाचेंगे झारखंड की पृष्ठभूमि पर लिखी कहानियाँ हैं जो एक तरफ तो अपने...

... Ebook
Andhere Mein Ek Chehra (Hindi)

रस्किन बाॅन्ड ने एक बार कहा था कि वे भूत-प्रेत में विश्वास नहीं करते लेकिन उनको...