Rashmi Bhardwaj

Introduction & Education
Born in Muzaffarpur Bihar, Rashmi Bhardwaj has done M.Phil in English Literature, Diploma in Journalism and is currently pursuing Ph.D. in English Literature. Rashmi, who has a strong hold on both Hindi and English languages, does original writing in Hindi as well as translates from English to Hindi.


Career 

Rashmi Bhardwaj has worked for four years as a reporter and sub-editor in leading newspapers like Dainik Jagran, Aaj, etc. then taught as an assistant professor at Galgotias University. Rashmi ji's articles, poems, and stories have been published on various subjects in many reputed magazines. Rashmi Ji also had an association with Muzaffarpur Doordarshan.


Writing & Awards

Rashmi Bhardwaj's poetry collection 'Ek Atirikt A' has been honored by the Jnanpeeth Navlekhan Puraskar-2016. Rashmi ji's compositions have been selected in "Shatdal", a compilation of 100 poets published by Bodhi Prakashan, Jaipur, and edited by senior poet Vijendra Singh. Hindi translation of the story collection of Ruskin Bond by Rajpal Prakashan and the story collection of Sahitya Akademi winner Hansda Sovendra Shekhar, Adivasi Nahin Nachenge has also been done by Rashmi ji.

 

Rashmi Bhardwaj is the editor of web magazine Meraki Patrika, through which literary programs are organized from time to time. Rashmi ji has had selected participation in literary programs like Hindi Academy, Jnanpith 'Walk', Youth 2016, etc.

Contact - mail.rashmi@gmail.com




परिचय 

मुजफ्फरपुर बिहार में जन्मी रश्मि भरद्वाज ने अँग्रेजी साहित्य से एम.फिल, पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है और वर्तमान में अँग्रेजी साहित्य पी.एच.डी कर रही हैं। हिंदी व् अंग्रेजी दोनों भाषाओँ पर गहरी पकड़ रखने वाली रश्मि हिंदी में मौलिक लेखन के साथ अंग्रेजी से हिंदी अनुवाद भी करती हैं। 


कार्य- अनुभव 

रश्मि भरद्वाज ने चार वर्षों तक  दैनिक जागरण, आज आदि प्रमुख समाचार पत्रों में रिपोर्टर और सब - एडिटर के तौर पर कार्य किया है, तत्पश्चात गेलगोटीएस विश्वविद्यालय में सहायक प्रोफेसर रहते हुए अध्यापन किया है। अनेक प्रतिष्ठित पत्र –पत्रिकाओं में विविध विषयों पर रश्मि जी के आलेख, कविताएँ एवं कहानियाँ प्रकाशित होती रही हैं। रश्मि जी का मुजफ्फरपुर दूरदर्शन से भी जुड़ाव रहा है।  

लेखन एवं पुरस्कार

रश्मि भरद्वाज का काव्य संग्रह ‘एक अतिरिक्त अ’  नपीठ नवलेखन पुरस्कार -2016 द्वारा सम्मानित किया गया है। बोधि प्रकाशन , जयपुर द्वारा प्रकाशित और वरिष्ठ कवि विजेंद्र सिंह द्वारा संपादित 100 कवियों के संकलन “शतदल” में रश्मि जी की रचनाएँ चयनित हुई हैं ।राजपाल प्रकाशन द्वारा रस्किन बॉन्ड का कहानी संग्रह एवं साहित्य अकादमी विजेता हंसदा सोवेन्द्र शेखर के कहानी संग्रह आदिवासी नहीं नाचेंगे का हिंदी अनुवाद भी रश्मि जी ने किया है ।

 

रश्मि भरद्वाज वेब मैगज़ीन मेराकी पत्रिका की सम्पादक हैं जिसके द्वारा समय- समय पर साहित्यिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है।  हिन्दी अकादमी, ज्ञानपीठ’ वाक’, युवा 2016 आदि साहित्यिक कार्यक्रमों में रश्मि जी की चयनित भागीदारी रही है।

 

संपर्क mail.rashmi@gmail.com

...