logo
Home Literature Poetry Pachas Kavitayen Nai Sadi Ke Liye Chayan
product-img product-img
Pachas Kavitayen Nai Sadi Ke Liye Chayan
Enjoying reading this book?

Pachas Kavitayen Nai Sadi Ke Liye Chayan

by Kedarnath singh
4.5
4.5 out of 5

publisher
Creators
Publisher Vani Prakashan
Editor Gobind Prasad
Synopsis

Enjoying reading this book?
PaperBack ₹65
Print Books
About the author केदारनाथ सिंह का जन्म सन् 1934 में बलिया, उत्तर प्रदेश के चकिया गाँव में हुआ। आरम्भिक शिक्षा गाँव में, बाद की शिक्षा हाईस्कूल से एम.ए. तक वाराणसी में। आधुनिक हिन्दी कविता में बिम्बविधान विषय पर सन् 1964 में पी-एच.डी. प्राप्त की। विधिवत् काव्य-लेखन सन् 1952-53 के आसपास शुरू हुआ। कुछ समय तक बनारस से निकलनेवाली अनियतकालिक पत्रिका हमारी पीढ़ी से सम्बद्ध रहे। पहला कविता-संग्रह अभी, बिलकुल अभी सन् 1960 में प्रकाशित। उसी वर्ष प्रकाशित तीसरा सप्तक के सहयोगी कवियों में से एक। पेशे से अध्यापक रहे केदारजी के कार्यक्षेत्र का प्रसार महानगर से ठेठ ग्रामांचल तक रहा। सन् 1976 से 1999 तक जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के भारतीय भाषा केन्द्र में अध्यापन और सम्प्रति उससे प्रोफेसर एमिरिटस के रूप में सम्बद्ध रहे। वे अनेक पुरस्कारों से सम्मानित हुए जिनमें प्रमुख हैं : ज्ञानपीठ पुरस्कार, साहित्य अकादेमी पुरस्कार, व्यास सम्मान, मैथिलीशरण गुप्त सम्मान (मध्यप्रदेश), कुमारन आशान पुरस्कार (केरल), दिनकर पुरस्कार (बिहार), जीवन भारती सम्मान, भारत भारती सम्मान, गंगाधर मेहर राष्ट्रीय कविता सम्मान (उड़ीसा), जाशुआ सम्मान (आन्ध्र प्रदेश) आदि। कई विदेशी तथा प्राय: सभी प्रमुख भारतीय भाषाओं में कविताओं के अनुवाद। फ्रेंच तथा इतालवी में बाघ शीर्षक लम्बी कविता के अनुवाद पुस्तकाकार प्रकाशित। प्रकाशित कृतियाँ : अभी, बिलकुल अभी, ज़मीन पक रही है, यहाँ से देखो, अकाल में सारस, उत्तर कबीर और अन्य कविताएँ, तालस्ताय और साइकिल, बाघ, सृष्टि पर पहरा, मतदान केन्द्र पर झपकी, प्रतिनिधि कविताएँ (काव्य-संग्रह)। कल्पना और छायावाद, आधुनिक हिन्दी कविता में बिम्बविधान, मेरे समय के शब्द, कब्रिस्तान में पंचायत (गद्य-कृतियाँ) तथा मेरे साक्षात्कार (संवाद)। निधन : 19 मार्च, 2018
Specifications
  • Language: Hindi
  • Publisher: Vani Prakashan
  • Pages: 134
  • Binding: PaperBack
  • ISBN: 9789350722183
  • Category: Poetry
  • Related Category: Literature
Share this book Twitter Facebook


Suggested Reads
Suggested Reads
Books from this publisher
Saransh… Alvida U.G. by Mahesh Bhatt
Aalochak Ajneya Ki Upasthiti by Krishnadatt Paliwal
Hindi Aur Bhartiya Bhasha Sahitya Ka Tulnatmak Adhyayan by Dr. Ramchhabeela Tripathi
Qaid Se Chhoota Hua Parmatma by Manohar Shyam Joshi
Jungal Ke Khilaf by Jiyalal Arya
Wah Kaun Thi by Sanjeev
Books from this publisher
Related Books
Pani Ki Prarthana : Paryavaran Vishayak Kavitayen Kedarnath Singh
Aansoo Ka Vazan Kedarnath Singh
Aansoo Ka Vazan Kedarnath Singh
Kavi Ne Kaha : Kedar Nath Singh Kedarnath singh
Matdan Kendra Par Jhapaki Kedarnath singh
Matdan Kendra Par Jhapaki Kedarnath singh
Related Books
Bookshelves
Stay Connected