logo
Home Literature Poetry Mere Dil Mere Musafir
product-img
Mere Dil Mere Musafir
Enjoying reading this book?

Mere Dil Mere Musafir

by Faiz Ahmed Faiz
4.7
4.7 out of 5

publisher
Creators
Publisher Rajkamal Prakashan
Synopsis फ़ैज़ को ज़िन्दगी और सुन्दरता से प्यार है - भरपूर प्यार, और इसीलिए जब उन्हें मानवता पर मौत और बदसूरती की छाया मँडराती दिखाई देती है, वह उसको दूर करने के लिए बड़ी-से-बड़ी आहुति देने से भी नहीं चूकते। उनका जीवन इसी पवित्र संघर्ष का प्रतीक है और उनकी शाइरी इसी का संगीत। मेरे दिल मेरे मुसाफ़िर फ़ैज़ अहमद ‘फ़ैज़’ की नज़्मों और ग़ज़लों का संग्रह है। इस संग्रह की ख़ासियत यह है कि रचनाओं को उर्दू और नागरी - दोनों लिपियों में रखा गया है। अपनी रचनात्मक भावभूमि पर इस संग्रह की कविताएँ फ़ैज़ के ‘जीवन-काल के विभिन्न चरणों की प्रतीक हैं और यह चरण उनके पूरे जीवन और पूरी कविता के चरित्र का ही स्वाभाविक अंग है।’ इनसान और इनसानियत के हक़ में उन्होंने एक मुसलसल लड़ाई लड़ी है और अवाम के दुख-दर्द और उसके गुश्स्से को दिल की गहराइयों में डूबकर क़लमबन्द किया है। इसके लिए हुक्मरानों का हरेक कोप और हर सजा क़बूल करते हुए आजीवन कुर्बानियाँ दीं। ज़ाहिरा तौर पर उनकी शायरी सच्चे इनसानों की हिम्मत, इनसानियत से उनके प्यार और एक ख़ूबसूरत भविष्य के लिए जीत के विश्वास से पैदा हुई है; और इसीलिए उनकी आवाज़ दुनिया के हर संघर्षशील आदमी की ऐसी आवाज़ है ‘जो क़ैदख़ानों की सलाखों से भी छन जाती है और फाँसी के फन्दों से भी गूँज उठती है।’

Enjoying reading this book?
Binding: PaperBack
About the author फै़ज़ अहमद फ़ैज़ उर्दू शायरी के एक ऐसे अजीमुश्शान शायर हैं जिन्होंने अपनी शायरी को अपने लहू की आग में तपाकर अवाम के दिलो-दिमाग़ तक ले गए और कुछ ऐसे अन्दाज़ में कि वह दुनिया के तमाम मजलूमों की आवाज़ बन गई। उनकी शायरी की ख़ास पहचान है - रोमानी तेवर में खालिस इंक़लाबी बात! यही कारण है कि ग़ालिब और इक़बाल के बाद जितनी शोहरत फ़ैज़ अहमद फ़ैज़ को मिली उतनी शायद किसी अन्य शायर को नहीं। फ़ैज़ मूलतः पाकिस्तान के थे किन्तु प्रगतिशील जीवन-दृष्टि के कारण उन्होंने देश की सीमा ही नहीं, भाषा, जाति और धर्म की भी मानवता के आगे कभी परवाह नहीं की। वे भारत में वैसे ही पसन्द किए जाते थे जैसे कि पाकिस्तान में उनकी शायरी मानवीयता, सामाजिकता और राजनीतिक सच्चाइयों का पर्याय है।
Specifications
  • Language: Hindi
  • Publisher: Rajkamal Prakashan
  • Pages: 123
  • Binding: PaperBack
  • ISBN: 9789388933179
  • Category: Poetry
  • Related Category: Literature
Share this book Twitter Facebook
Related articles
Related articles
Related Videos


Suggested Reads
Suggested Reads
Books from this publisher
Bihar Ka Sabse Chhota Jila : Shivhar by Pragya Narayan
Mera Desh Tumhara Desh by Krishna Kumar
Ek Se Bhale Char by Jayprakash Manas
Khalji Kaleen Bharat by
Lapata Ladaki by Arvind jain
Sumitranandan Pant Granthavali : Vols.-1-7 by Sumitranandan Pant
Books from this publisher
Related Books
Aaj Ke Gham Ke Naam Faiz Ahmed Faiz
Aaj Ke Gham Ke Naam Faiz Ahmed Faiz
Saare Sukhan Humare Faiz Ahmed Faiz
Mere Dil Mere Musafir Faiz Ahmed Faiz
Saare Sukhan Humare Faiz Ahmed Faiz
Pratinidhi Kavitayen : Faiz Ahmed Faiz Faiz Ahmed Faiz
Related Books
Bookshelves
Stay Connected