logo
Home Literature Literature Hindi Sahitya Ka Aadikal
product-img
Hindi Sahitya Ka Aadikal
Enjoying reading this book?

Hindi Sahitya Ka Aadikal

by Hazariprasad Dwivedi
4.2
4.2 out of 5

publisher
Creators
Publisher Vani Prakashan
Synopsis

Enjoying reading this book?
PaperBack ₹125
HardBack ₹200
Print Books
About the author डॉ. हज़ारी प्रसाद द्विवेदी (19 अगस्त, 1907 - 19 मई, 1979) हिन्दी के शीर्षस्थ साहित्यकारों में से हैं। वे उच्चकोटि के निबन्धकार, उपन्यासकार, आलोचक, चिन्तक तथा शोधकर्ता हैं। साहित्य के इन सभी क्षेत्रों में द्विवेदी जी अपनी प्रतिभा और विशिष्ट कर्तव्य के कारण विशेष यश के भागी हुए हैं। द्विवेदी जी का व्यक्तित्व गरिमामय, चित्तवृत्ति उदार और दृष्टिकोण व्यापक है। द्विवेदी जी की प्रत्येक रचना पर उनके इस व्यक्तित्व की छाप देखी जा सकती है। द्विवेदी जी के निबंधों के विषय भारतीय संस्कृति, इतिहास, ज्योतिष, साहित्य विविध धर्मों और संप्रदायों का विवेचन आदि है। वर्गीकरण की दृष्टि से द्विवेदी जी के निबंध दो भागों में विभाजित किए जा सकते हैं - विचारात्मक और आलोचनात्मक। विचारात्मक निबंधों की दो श्रेणियां हैं। प्रथम श्रेणी के निबंधों में दार्शनिक तत्वों की प्रधानता रहती है। द्वितीय श्रेणी के निबंध सामाजिक जीवन संबंधी होते हैं। आलोचनात्मक निबंध भी दो श्रेणियों में बांटें जा सकते हैं। प्रथम श्रेणी में ऐसे निबंध हैं जिनमें साहित्य के विभिन्न अंगों का शास्त्रीय दृष्टि से विवेचन किया गया है और द्वितीय श्रेणी में वे निबंध आते हैं जिनमें साहित्यकारों की कृतियों पर आलोचनात्मक दृष्टि से विचार हुआ है। द्विवेदी जी के इन निबंधों में विचारों की गहनता, निरीक्षण की नवीनता और विश्लेषण की सूक्ष्मता रहती है।
Specifications
  • Language: Hindi
  • Publisher: Vani Prakashan
  • Pages: 176
  • Binding: PaperBack
  • ISBN: 9789387889903
  • Category: Literature
  • Related Category: Literature
Share this book


Suggested Reads
Suggested Reads
Books from this publisher
Jahan Se Ujas by Rajee Seth
Hindi kavyaSangrah by Dr.Shashishekhar Tiwari
110 Tales of Wisdom by Patrick Levy
Bhartiya Bhashaon Mein Ramkatha(Pahadi Bhasha) by Dr.Yogendra Pratap Singh
Bhartiya Sahitya Aur Aadiwasi-Vimarsh by
Aashcharyavat by Monika Kumar
Books from this publisher
Related Books
Nath Sampraday Hazariprasad Dwivedi
Sahaj Sadhna Hazariprasad Dwivedi
Kutaz Hazariprasad Dwivedi
Sahitya Sahchar Hazariprasad Dwivedi
Nath-Sampradaya Hazariprasad Dwivedi
Ashok Ke Phool Hazariprasad Dwivedi
Related Books
Bookshelves
Stay Connected