logo
Home Nonfiction Art & Culture Ek Gond Gaon Me Jeevan
product-img
Ek Gond Gaon Me Jeevan
Enjoying reading this book?

Ek Gond Gaon Me Jeevan

by Veriar Elwin
4.4
4.4 out of 5

publisher
Creators
Author Veriar Elwin
Publisher Rajkamal Prakashan
Synopsis वेरियर एलविन एक युवा अंग्रेज थे जो मिशनरी बनकर भारत आए और बाद में भारत के एक महत्त्वपूर्ण मानव-विज्ञानी बने । गांधीजी की प्रेरणा और जमनालाल बजाज के मार्गदर्शन में वेरियर एलविन ने मैकाल पहाड़ी पर बसे एक गोंड गाँव करंजिया में बसने का निर्णय लिया और उस क्षेत्र के लोगों के कल्याण के लिए खुद को समर्पित कर दिया । 'एक गोंड गाँव में जीवन' उनके करंजिया में बिताये 1932 से 1936 के जीवन का रोजनामचा है जहाँ वे गोंड लोगों की तरह ही स्वयं और कुछ मित्रों की सहायता से बनाई गई एक झोपड़ी में रहते थे । यह जीवंत, मर्मस्पर्शी और उपख्यानात्मक पुस्तक है जिसमें एलविन ने निरीक्षण की अपनी मानव-विज्ञानी क्षमता और स्वाभाविक विनोदप्रियता के संयोग से गोंड जीवन की बहुरंगी छवि और आश्रम, जिसमें हिन्दू मुसलमान, ईसाई, गोंड आदि सभी शामिल हैं, की आन्तरिक उपलब्धि का उत्कृष्ट वर्णन किया हे ।

Enjoying reading this book?
Binding: HardBack
About the author
Specifications
  • Language: Hindi
  • Publisher: Rajkamal Prakashan
  • Pages: 135
  • Binding: HardBack
  • ISBN: 8126712961
  • Category: Art & Culture
  • Related Category: Society
Share this book Twitter Facebook
Related articles
Related articles
Related Videos


Suggested Reads
Suggested Reads
Books from this publisher
Gahari Nind by Yvan Pommaux
Maqbool Fida Husain by Akhilesh
Pati Patani Aur Woh by Kamleshwar
In Dino by Kunwar Narain
Mukhara Kya Dekhe by Abdul Bismillah
Nyayakshetre : Anyayakshetre by Arvind Jain
Books from this publisher
Related Books
Mahakaushal Anchal Ki Lokkathyen Veriar Elwin
Muria Aur Unka Ghotul : Part-2 Veriar Elwin
Janjatiye Mithak : Udiya Aadivasiyon Ki Kahaniyan Veriar Elwin
Muria Aur Unka Ghotul : Part-1 Veriar Elwin
Agaria Veriar Elwin
Hatya Aur Atamhatya Ke Beech Mariya Veriar Elwin
Related Books
Bookshelves
Stay Connected