logo
Home Literature Novel Besharam : Lajja Upanyas Ki Uttar-Katha
product-img
Besharam : Lajja Upanyas Ki Uttar-Katha
Enjoying reading this book?

Besharam : Lajja Upanyas Ki Uttar-Katha

by Taslima Nasrin
4.5
4.5 out of 5

publisher
Creators
Publisher Rajkamal Prakashan
Synopsis तसलीमा नसरीन का यह उपन्यास उन लोगों के विषय में है जो अपनी जन्मभूमि को छोड़कर किसी और देश में, दुनिया के अलग-अलग हिस्सों में, पराए माहौल और पराई आबोहवा में अपना जीवन बिता रहे हैं। कहने की ज़रूरत नहीं कि तसलीमा ने यह जीवन बहुत नज़दीक से जिया है। उनकी विश्व-स्तर पर चर्चित पुस्तक ‘लज्जा’ के लिए उन्हें कट्टरपंथियों ने देशनिकाला दे दिया था। लम्बा समय उन्होंने अपने मुल्क से बाहर बिताया है। इस उपन्यास में उन्होंने अपनी जड़ों से उखड़े ऐसे ही जीवन की मार्मिक और विचारोत्तेजक कथा कही है। स्वयं उनका कहना है कि यह उपन्यास ‘लज्जा’ की तरह राजनीतिक नहीं है, इसका उद्देश्य निर्वासन की सामाजिक दुर्घटना और उसकी परिस्थितियों को रेखांकित करना है। उपन्यास के सभी पात्र निश्चित रूप से उन चेहरों की अक्काशी करते हैं जिन्हें साम्प्रदायिक उन्माद और अत्याचार के चलते अपना घर छोडऩा पड़ा और बेगानी आबोहवा में साँस लेते हुए जीने की नई मुहिम शुरू करनी पड़ी।

Enjoying reading this book?
HardBack ₹695
PaperBack ₹250
Print Books
Digital Books
About the author तसलीमा नसरीन सुख्यात लेखक और मानवतावादी विचारक हैं। अपने विचारों और लेखन के लिए उन्हें अकसर फ़तवों का सामना करना पड़ा। विवादास्पद उपन्यास ‘लज्जा’ पर उन्हें उनके देश से निष्कासित कर दिया गया जहाँ वे 1994 से नहीं गईं। भारत समेत कई देशों से उन्हें विभिन्न सम्मानित पुरस्कारों और मानद उपाधियों से विभूषित किया जा चुका है। दुनिया की लगभग तीस भाषाओं में उनकी रचनाओं का अनुवाद हो चुका है।
Specifications
  • Language: Hindi
  • Publisher: Rajkamal Prakashan
  • Pages: 256
  • Binding: HardBack
  • ISBN: 9789388183987
  • Category: Novel
  • Related Category: Modern & Contemporary
Share this book Twitter Facebook
Related articles
Related articles
Related Videos


Suggested Reads
Suggested Reads
Books from this publisher
Drishya Aur Dhwaniyan-Khand-2 by Sitanshu Yashaschandra
Dehari Ka Man by Dr. Prabha Thakur
Pratinidhi Kahaniyan : Bhishm Sahni by Bhishm Sahni
Sham Har Rang Mein by Krishna Baldev Vaid
Shikhar Ki Dhalan by Tarun J. Tejpal
Hindi Ki Sahitiyak Sanskriti Aur Bhartiya Adhunikata by Dr. Rajkumar
Books from this publisher
Related Books
Nishiddh Taslima Nasrin
Nishiddh Taslima Nasrin
Mujhe Dena Aur Prem Taslima Nasrin
Aurat Ka Koi Desh Nahin TASLIMA NASRIN
Aurat Ke Haq Mein Taslima Nasrin
Chaar Kanya Taslima Nasrin
Related Books
Bookshelves
Stay Connected