logo
Home Reference Women Aurat Ka Koi Desh Nahin
product-img
Aurat Ka Koi Desh Nahin
Enjoying reading this book?

Aurat Ka Koi Desh Nahin

by TASLIMA NASRIN
4.6
4.6 out of 5

publisher
Creators
Publisher
Translator Sushil Gupta
Synopsis तसलीमा नसरीन की यह पुस्तक जिसका अनुवाद सुशील गुप्ता ने किया है विभिन्न अखबारों में लिखे हुए कॉलमों का संग्रह है! यह किताब उन औरतों को समर्पित है,जो अपने कदम,’लोग क्या कहेंगे’ के दर से पीछे नहीं हटातीं। उन लोगों की जो इच्छा होती है,वही करती हैं। वर्तमान युग के नन्हें अंश के टुकड़े –टुकड़े चुन कर लेखिका ने इस पुस्तक में जोडे है यह पुस्तक महिलाओं के भविष्य को जगमगाता हुआ देखने की सुखद चाह का नतीजा है।

Enjoying reading this book?
PaperBack ₹175
HardBack ₹350
Print Books
About the author तसलीमा नसरीन सुख्यात लेखक और मानवतावादी विचारक हैं। अपने विचारों और लेखन के लिए उन्हें अकसर फ़तवों का सामना करना पड़ा। विवादास्पद उपन्यास ‘लज्जा’ पर उन्हें उनके देश से निष्कासित कर दिया गया जहाँ वे 1994 से नहीं गईं। भारत समेत कई देशों से उन्हें विभिन्न सम्मानित पुरस्कारों और मानद उपाधियों से विभूषित किया जा चुका है। दुनिया की लगभग तीस भाषाओं में उनकी रचनाओं का अनुवाद हो चुका है।
Specifications
  • Language: Hindi
  • Publisher:
  • Pages: 236
  • Binding: PaperBack
  • ISBN: 9789352291106
  • Category: Women
  • Related Category: Family & Relationship
Share this book


Suggested Reads
Suggested Reads
Books from this publisher
Deewan-E-Galib by
6020(Nagrik Police) Seedhi Bharti Pariksha 2016 by Arihant Experts
My Pretty Board Books - My Body by Dreamland Publications
The Svacchandatantra With Uddyota of Kesmaraja (1St Vol) by Madhusudan Kaul Sastri
NCERT practice workbook Environmental Studies looking Around Class 5 by Arihant Experts
15 Practice Sets SSC Constable (GD) Bharti Pariksha by Arihant Experts
Books from this publisher
Related Books
Besharam : Lajja Upanyas Ki Uttar-Katha Taslima Nasrin
Nishiddh Taslima Nasrin
Nishiddh Taslima Nasrin
Mujhe Dena Aur Prem Taslima Nasrin
Aurat Ke Haq Mein Taslima Nasrin
Chaar Kanya Taslima Nasrin
Related Books
Bookshelves
Stay Connected