logo
Home Literature Short Stories Ankhon Ankhon Rahe
product-img product-img
Ankhon Ankhon Rahe
Enjoying reading this book?

Ankhon Ankhon Rahe

by Waseem Bareilavi
4.6
4.6 out of 5

publisher
Creators
Author Waseem Bareilavi
Publisher Vani Prakashan
Synopsis वसीम बरेलवी हमारे दौर के उन मशहूरों-मारुफ़ शायरों में हैं जिन्हें उनकी शायरी ने सुनने और पढ़ने वालों में महबूब बना दिया है। अपनी भाषा कि सरलता और चिंतन में ज़िन्दगी के आम सरोकारों से गजल को जोड़ कर वासिन साहब ने अपना रिश्ता एक संतुलन के साथ अवाम और आदाब से जोड़ा है,जो बहुत बड़ी बात है। हमारे समाज को आज जिस शायरी कि जरूरत है,मुहब्बत के रिश्तों को जिस आंच कि जरूरत जय और हमारे आदाब को जिस सच्चाई कि जरूरत है,वह सब कुछ वसीम साहब कि शायरी में मौजूद है।

Enjoying reading this book?
HardBack ₹195
PaperBack ₹125
Print Books
About the author
Specifications
  • Language: Hindi
  • Publisher: Vani Prakashan
  • Pages: 104
  • Binding: HardBack
  • ISBN: 9788181436818
  • Category: Short Stories
  • Related Category: Novella
Share this book
Suggested Reads
Suggested Reads
Books from this publisher
DaduKavya Ki Samajik Prasangikata by Ravindra Kumar Singh
Shrilal Shukl : Vyangya Ke Vividh Aayam by Dr. Archana Dube
Partain by Lakshmi Kannan
Kissa Paune Char Yar by Manohar Shyam Joshi
Chaand @ Aasmaan Dot Com by Vimal Kumar
Hero-Ek Blue Print by Mahashweta Devi
Books from this publisher
Related Books
Beech Bahas Mein Nirmal verma
Dusri Duniya Nirmal verma
Warren Hastings Ka Sand Uday Prakash
Jalti Jhadi Nirmal Verma
Jalti Jhadi Nirmal Verma
Premchand Ki Sampoorn Kahaniyan-2 Premchand
Related Books
Bookshelves
Stay Connected