logo
Home Literature Novel Aher
product-img
Aher
Enjoying reading this book?

Aher

by Sanjeev
4.2
4.2 out of 5

publisher
Creators
Author Sanjeev
Publisher Rajkamal Prakashan
Synopsis वरिष्ठ कथाकार संजीव का यह उपन्यास सामाजिक-सांस्कृतिक परिवेश की एक ऐसी गुत्थी हमारे सामने खोलता है, जो जितनी हैरतअंगेज़ है उतनी ही भयावह भी। मनुष्य ने लाखों साल पहले पेट की भूख शान्त करने के लिए शिकार अर्थात् अहेर करना शुरू किया था। लेकिन सभ्यता-संस्कृति के विकास के साथ-साथ उसने न सिर्फ़ तरह-तरह के साधन और कौशल अर्जित किए, बल्कि तमाम तरह की भूख भी इकट्ठा की—कुछ इस क़दर कि उनकी पूर्ति के लिए आज मनुष्य-समाज स्वयं अहेर और अहेरी—शिकार और शिकारी—में बँट चुका है। यह उपन्यास दिखलाता है कि अहेरी बने लोग अपने हिंस्र चेहरे पर संस्कृति, परम्परा, आस्था, विरासत और मर्यादा के मुखौटे चढ़ाए फिर रहे हैं। उनकी असल चिन्ता अपने वर्चस्व को बनाए रखने और अपने हितों को सुरक्षित रखने की है। इस गहन बनैले वक़्त में क्या कोई बदलाव सम्भव है? इसका जवाब उपन्यास के उन किरदारों से मिलता है जो अहेर के थोथे अभियान से अपने गाँव को मुक्त कराने की पहल करते हैं और जल्द ही अकेले पड़ जाते हैं। उन्हें जान देनी पड़ती है। लेकिन उनकी असफलता उनके परिवर्तनकामी स्वप्न का अन्त नहीं है। एक बेहतर मानवीय समाज के निर्माण को अपने लेखन का उद्देश्य माननेवाले संजीव, इस उपन्यास में उस त्रासदी को भी बख़ूबी रेखांकित करते हैं, जिसमें अहेरी बने घूम रहे लोग ख़ुद भी अहेर बन रहे हैं—अपनी ही व्यर्थ हो चुकी मान्यताओं का, वक़्त से बाहर की जा चुकी परम्पराओं का। विरल ग्रामीण परिवेश में विन्यस्त एक असाधारण कथा को समेटे इस उपन्यास की अत्यधिक पठनीयता को रेखांकित करने के लिए किसी ‘जादुई’ अलंकार की आवश्यकता नहीं है।

Enjoying reading this book?
HardBack ₹395
PaperBack ₹160
Print Books
Digital Books
About the author
Specifications
  • Language: Hindi
  • Publisher: Rajkamal Prakashan
  • Pages: 160
  • Binding: HardBack
  • ISBN: 9789389598087
  • Category: Novel
  • Related Category: Modern & Contemporary
Share this book Twitter Facebook
Related articles
Related articles
Related Videos


Suggested Reads
Suggested Reads
Books from this publisher
Man Maati by Asghar Wajahat
Bhagat singh Aur Unke Sathiyon Ke Dastavez by Jagmohan Singh
Pracheen Bharat Ki Sanskriti Aur Sabhyata by Damodar Dharmanand Kosambi
Nindak Niyare Rakhiye by Surendra Mohan Pathak
Aadhunik Bharat Ka Aarthik Itihas by Sabyasachi Bhattacharya
Chatushkon Evam Anya Natak by Vratya Basu
Books from this publisher
Related Books
Sagar Seemant Sanjeev
Mujhe Pahachaano Sanjeev
Mujhe Pahachaano Sanjeev
Aher Sanjeev
Wah Kaun Thi Sanjeev
Pratyancha : Chhatrapati Shahooji Maharaj Ki Jeevangatha Sanjeev
Related Books
Bookshelves
Stay Connected