logo
Home Literature Drama Man Ke Bhanwar
product-img product-img
Man Ke Bhanwar
Enjoying reading this book?

Man Ke Bhanwar

by Daya Prakash Sinha
4.7
4.7 out of 5

publisher
Creators
Author Daya Prakash Sinha
Publisher Vani Prakashan
Synopsis एक मनोचिकित्सक जो स्वयं मनोरोगी है यह नाटक अतिनाटकीय कथानक द्वारा मनोजगत का मनोवैज्ञानिक रंगमंच पर सफलतापूर्वक मंचस्थ नाटक है। नाटक में सर्वथा नवीन विश्लेषण हिन्दी ‘मन के भँवर’का कला पक्ष भी उतना ही सबल है, जितना साहित्य पक्ष। हिन्दी नाट्य लेखन के लिए केंद्रीय संगीत नाटक आकदमी, नयी दिल्ली, द्वारा ‘अकादमी अवार्ड’ से भूषित, तथा ‘कथा एक कंस की’, ‘इतिहास चक्र’, ‘सीढ़ियाँ’, ‘अपने अपने दाँव’, जैसे सफल नाटकों के रचयिता दया प्रकाश सिन्हा द्वारा सर्जित नाटक ‘मन के भँवर’ कथानक की नवीनता और नाटकीयता के लिए अद्वितीय है। नाटक का यह कथानक सार्वकालिक है, जो समय के साथ पुराना नहीं पड़ता। यही नाटक की सफलता का रहस्य है, जो उसे दीर्घजीवी बनाता है। अतः यह नाटक पाठक को लीक से हटकर सोचने को मजबूर करता है।

Enjoying reading this book?
Binding: PaperBack
About the author
Specifications
  • Language: Hindi
  • Publisher: Vani Prakashan
  • Pages: 70
  • Binding: PaperBack
  • ISBN: 9789350728772
  • Category: Drama
  • Related Category: Drama & Theatre
Share this book Twitter Facebook
Related Videos
Mr.


Suggested Reads
Suggested Reads
Books from this publisher
Tumne Kaha Tha by Nagarjun
Meena Bazar by Saadat hasan manto
Mai Hun Yahan Hun by Bharat Yayavar
Mahanagari Ke Nayak by Manohar Shyam Joshi
Tapta Samandar by Yadvendra Sharma 'Chandra'
Kah Gaya Jo Aata Hoon Abhi by Aniruddh Umat
Books from this publisher
Related Books
Katha Ek Kans Ki Daya Prakash Sinha
Itihas Daya Prakash Sinha
Katha Ek Kans Ki Daya Prakash Sinha
Saadar Aapka Daya Prakash Sinha
Oh America ! Daya Prakash Sinha
Seeriyaa Daya Prakash Sinha
Related Books
Bookshelves
Stay Connected