logo
Home Literature Drama Man Ke Bhanwar
product-img product-img
Man Ke Bhanwar
Enjoying reading this book?

Man Ke Bhanwar

by Daya Prakash Sinha
4.7
4.7 out of 5

publisher
Creators
Author Daya Prakash Sinha
Publisher Vani Prakashan
Synopsis एक मनोचिकित्सक जो स्वयं मनोरोगी है यह नाटक अतिनाटकीय कथानक द्वारा मनोजगत का मनोवैज्ञानिक रंगमंच पर सफलतापूर्वक मंचस्थ नाटक है। नाटक में सर्वथा नवीन विश्लेषण हिन्दी ‘मन के भँवर’का कला पक्ष भी उतना ही सबल है, जितना साहित्य पक्ष। हिन्दी नाट्य लेखन के लिए केंद्रीय संगीत नाटक आकदमी, नयी दिल्ली, द्वारा ‘अकादमी अवार्ड’ से भूषित, तथा ‘कथा एक कंस की’, ‘इतिहास चक्र’, ‘सीढ़ियाँ’, ‘अपने अपने दाँव’, जैसे सफल नाटकों के रचयिता दया प्रकाश सिन्हा द्वारा सर्जित नाटक ‘मन के भँवर’ कथानक की नवीनता और नाटकीयता के लिए अद्वितीय है। नाटक का यह कथानक सार्वकालिक है, जो समय के साथ पुराना नहीं पड़ता। यही नाटक की सफलता का रहस्य है, जो उसे दीर्घजीवी बनाता है। अतः यह नाटक पाठक को लीक से हटकर सोचने को मजबूर करता है।

Enjoying reading this book?
PaperBack ₹200
Print Books
About the author
Specifications
  • Language: Hindi
  • Publisher: Vani Prakashan
  • Pages: 70
  • Binding: PaperBack
  • ISBN: 9789350728772
  • Category: Drama
  • Related Category: Drama & Theatre
Share this book


Suggested Reads
Suggested Reads
Books from this publisher
Kuch Pal Sath Raho by Taslima Nasreen
Gairiradtan Hatya Urf Mrityupoorv Ka Iqbaliya Bayan by Sanjeev
Samajvad Ki DashaDisha Aur Lohiya Jeewan Darshan by Dr. Ramsagar Singh
Uttar Bhartiya Sangeet Ke Aaptrishi Acharya Bruhaspati Ek Adyayan by Dr.Soubhagya Vardan Bruhaspati
Antim Aranya by Nirmal Verma
The Return Story of Kunti : Mahasamar-II by Narendra Kohli
Books from this publisher
Related Books
Katha Ek Kans Ki Daya Prakash Sinha
Itihas Daya Prakash Sinha
Katha Ek Kans Ki Daya Prakash Sinha
Saadar Aapka Daya Prakash Sinha
Oh America ! Daya Prakash Sinha
Seeriyaa Daya Prakash Sinha
Related Books
Bookshelves
Stay Connected