logo
Home Nonfiction Biographies & Memoirs Bangladesh Mein Hindu Sanhaar
product-img product-img
Bangladesh Mein Hindu Sanhaar
Enjoying reading this book?

Bangladesh Mein Hindu Sanhaar

by Salam Azad
4.3
4.3 out of 5

publisher
Creators
Author Salam Azad
Publisher Vani Prakashan
Synopsis बांग्लादेश में एक ऐसा अल्पसंख्यक समुदाय होने के नाते, जिसकी भाषा और धर्म वहीं है, जोकि पश्चिम बंगाल की भारतीय आबादियों की है, हिन्दुओं के साथ बांग्लादेश में भेदभावपूर्ण व्यवहार किया गया है और साथ ही वहाँ के मुसलमानों द्वारा उन पर हमले किये गये हैं। आजादी के बाद से बांग्लादेश की किसी भी सरकार द्वारा राजनीतिक खतरों के चलते जिनमें इस समय किये जा रहे हमले भी शामिल हैं, हिन्दुओं को बचाने के लिए कोई निर्णायक कदम नहीं उठाये गये हैं। उदाहरण के लिए बांग्लादेश की सरकारों ने अभी तक निहित सम्पत्ति-अधिनियम को रद्द नहीं किया है जिसके अन्तर्गत भारत और पाकिस्तान को उन लोगों की सम्पत्ति जब्त करने की अनुमति प्रदान की गयी जो 1965 के युद्ध के दौरान तक दूसरे की सीमाओं के पार चले गये थे। भारत ने युद्ध समाप्त होने के फौरन बाद ही इसे रद्द कर दिया था। पाकिस्तान ने इसे बनाये रखा और बांग्लादेश ने भी जो पहले पूर्वी पाकिस्तान था। बांग्लादेश में रहने वाले लगभग सभी हिन्दू इस अधिनियम से प्रभावित हुए हैं, क्योंकि कई मौकों पर लगभग दस हेक्टेयर भूमि हिन्दुओं से केवल इस आरोप पर छीन ली गयी है कि उन्होंने देश छोड़ दिया था। इससे हिन्दुओं का मनोबल गिरा है और उनकी आर्थिक हानि हुई है, जिसके कारण वे देश छोड़ने पर मजबूर हुए हैं।

Enjoying reading this book?
HardBack ₹200
PaperBack ₹150
Print Books
About the author
Specifications
  • Language: Hindi
  • Publisher: Vani Prakashan
  • Pages: 172
  • Binding: HardBack
  • ISBN: 9789352293056
  • Category: Biographies & Memoirs
  • Related Category: Biographies
Share this book
Suggested Reads
Suggested Reads
Books from this publisher
Teesra Rukh by Purushottam Agrawal
Aadim Raag by Ramdarsh Mishra
Bharat Mein Isai Dharma -Prachartantra by Arun Shauri
Alaknanda by Nandkishore Nautiyal
Tulsidas Sandarbh by Dr.Nagendra
Doob by Virendra Jain
Books from this publisher
Related Books
NoMan's Land Salam Azad
NoMan's Land Salam Azad
Desh Vibhajan Ki Kahaniyan Salam Azad
Sharmnak Salam Azad
Desh Vibhajan Ki Kahaniyan Salam Azad
Bangladesh Se Kyon Bhag Rahe Hain Hindu Salam Azad
Related Books
Bookshelves
Stay Connected