Popular blogs

All blogs collections

लंका की राजकुमारी : क्या शूर्पणखा लंका के विनाश का कारण थी?

शूर्पणखा का अर्थ है, एक ऐसी स्त्री जो नाखून की तरह कठोर हो। उसके जन्म का नाम मीनाक्षी था, अर्थात् मछली जैसी सुंदर आंखों वाली। शूर्पणखा, रामायण की ऐसी पात्र...

book review mythology kavita kane
देवदारों के साये में: अपराध के मनोविज्ञान के साथ

रस्किन बॉन्ड जब भी कोई किस्सा या कहानी सुनाते हैं, तो वह खास हो जाती है। उनके पास कहानी कहने की जबरदस्त कला है। ‘देवदारों के साये में पुराने दौर के मसूरी में...

book review ruskin bond देवदारों के साये में
Book Review: कल्कि : दसवें अवतार का उदय- दुनिया में फैली आपदाओं पर नई और अलग दृष्टि

कल्पना व्यक्ति को ईश्वर की ओर से मिली सबसे बड़ी पूंजी है। यही कल्पना कई बार जीवन में बहुत से अनुत्तरित लगने वाले प्रश्नों के उत्तर भी सहज रूप से सामने रख देती...

book review ashutosh garg atri garg
Ashwatthama: Mahabharat Ka Shapit Yoddha By Ashutosh Garg | Book Review

Mahabharat has inspired generations to read, write, learn, adapt a lot from it. Being the biggest poetry available (some latest english novels could have broken the length record) where almost every emotion, situation, problem, solution; we may face is explored with timeless wisdom lessons. All these...


जब अमरता एक अभिशाप बन जाती है

अमरता इंसान की सबसे सम्मोहक कामना है। मोक्ष तो कम ही लोग चाहते होंगे, पर अमर होने की इच्छा लगभग सभी के भीतर घुमड़ती रहती है। अनंतकाल तक भोगने की लालसा इसका सबसे...


अश्वत्थामा’ : महाभारत के शापित योद्धा की कथा, एक नए अंदाज में

महाभारत की गाथा का एक महत्वपूर्ण पात्र होने के बावजूद अश्वत्थामा सदा उपेक्षित रहा है। पौराणिक आख्यानों में ऐसे कई लोग हैं जिन्हें अमर माना जाता है। लेकिन...