logo
Home Literature Poetry Pyar Ki Boli Bol
product-img product-imgproduct-img
Pyar Ki Boli Bol
Enjoying reading this book?

Pyar Ki Boli Bol

by Hilal Fareed
4.3
4.3 out of 5

publisher
Creators
Author Hilal Fareed
Publisher Vani Prakashan
Synopsis दिल में भड़के आग, या छिड़ जाये राग जागे जब एहसास तब कहता हूँ शे'र यह किताब आसमान से नहीं उतरी; इस किताब में ज़मीन पर रहने वाले एक आदमी ने अपने ग़म, ग़ुस्से, ख़ुशी, इत्मीनान, मजबूरी और हौसले को शाइरी के ज़रिये पेश किया है। शायद पढ़ने वालों को इस किताब में शामिल शाइरी की ज़बान आसान, अन्दाज़ क्लासिकी, ख़यालात ताज़ा और लहजा मुतरन्निम (rhythmical) मालूम हो। इस किताब का एक अनोखापन ये है कि इसमें नये शौक़ीनों के लिए उर्दू शाइरी के बुनियादी उसूल भी समझाये गये हैं और मुख़तलिफ़ Genres की कुछ तकनीकी जानकारी भी दी गयी है। उम्मीद है कि इस किताब को जब माहिरान-ए-फ़न (experts) पढ़ेंगे तो शाइरी से लुत्फ़अन्दोज़ होंगे और जब नौवारिदान-ए-फ़न (new comers) पढ़ेंगे तो उनके हौसले बढ़ेंगे और उनके ज़ौक़ और शौक़ में इज़ाफ़ा होगा।

Enjoying reading this book?
Paperback ₹299
Print Books
About the author
Specifications
  • Language: Hindi
  • Publisher: Vani Prakashan
  • Pages: 262
  • Binding: Paperback
  • ISBN: 9789390678440
  • Category: Poetry
  • Related Category: Literature
Share this book Twitter Facebook


Suggested Reads
Suggested Reads
Books from this publisher
Aadhunik Gady Ki Vividh Vidhayen by Udaybhanu Singh
Sanchar Aur Media Shodh by Dr. Vineeta Gupta
Ateet Ka Sab: Samagra Kahaniyan by Gangaprasad Vimal
Asmitamoolak Vimarsh Aur Hindi Sahitya by Dr. Rajat Rani 'Meenu'
KathaaKunj by Dr.Sarswati Bhalla
Kyun Vishwas Karoon by Surajpal Chauhan
Books from this publisher
Related Books
Pannon Par Kuch Din Namwar Singh
November Ki Dhoop : Aadhunik Austriai Kavitayein Sanjeev Kaushal
Arthat Amitabh Chaudhary
Ameer Khusro : Hindavi Lok Kavya Sankalan Gopichand Narang
Ameer Khusro : Hindavi Lok Kavya Sankalan Gopichand Narang
Visthapan Aur Yaaden Anju Ranjan
Related Books
Bookshelves
Stay Connected