logo
Home Nonfiction Biographies & Memoirs Patna Diary
product-img product-imgproduct-img
Patna Diary
Enjoying reading this book?

Patna Diary

by Nivedita
4.3
4.3 out of 5

publisher
Creators
Author Nivedita
Publisher Vani Prakashan
Synopsis प्रख्यात कवि और अग्रणी संघर्षशील कार्यकर्ता निवेदिता जी के लेखों का यह संग्रह बीसवीं शताब्दी के अस्सी के दशक के पटना शहर और विस्तार में पूरे देश के जीवन का जीवन्त और मार्मिक दस्तावेज़ है। यह रोज़नामचा भी है और दास्तान भी और अपने स्वभाव में मार्मिक कविता। किसी शहर या कालखण्ड को कितने-कितने कोणों और सन्दर्भो से देखा जाये कि टुकड़ों-टुकड़ों में भी शहर की मुकम्मिल तस्वीर निकल आये-इसकी नायाब मिसाल निवेदिता जी की यह किताब है। अस्सी का वो दशक जन संघर्षों, नये बदलावों और गहरे रोमान से भरा हुआ था। ज़िन्दगी को बेहतर बनाने की ख्वाहिशें, सपने और लड़ाइयाँ अभी भी नौजवानों की ज़िन्दगी का हिस्सा थीं और पटना शहर अनेक परिवर्तनकामी विचारों और आन्दोलनों से उद्वेलित था। निवेदिता जी ने अपने आदर्श नायकों और उनके लेखन, कर्म, संघर्षों को केन्द्र में रखकर उस हीरक समय का एक बहुरंगी मानचित्र प्रस्तुत किया है। उनकी भाषा उस समय के सत्त और सत्य को बहुत तीक्ष्णता से आयत्त करती है। इस पुस्तक का पहला ही लेख महान क्रान्तिकारी कवि आलोक धन्वा की युगान्तरकारी कविता के मोहक वृत्तान्त से शुरू होता है जो पूरे संग्रह के महत्त्व को सिद्ध करने के लिए पर्याप्त है। ऐसी पुस्तकों की ज़रूरत हमेशा रहेगी जो विधिवत इतिहास-लेखन या पत्रकारिता न होते हुए भी इतिहास के एक दौर को साहित्य, कला, वैचारिकी और जन-संघर्षों की मार्फत समझने की कोशिश करती हैं और अँधेरों में भी भासमान द्वीपों का अन्वेषण करती हैं। आशा है कि निवेदिता जी की यह पुस्तक अपने अनूठे कलेवर और विन्यास के कारण सहृदय पाठकों का ध्यान एवं आदर अर्जित करेगी। - अरुण कमल

Enjoying reading this book?
Hardback ₹299
Print Books
About the author
Specifications
  • Language: Hindi
  • Publisher: Vani Prakashan
  • Pages: 118
  • Binding: Hardback
  • ISBN: 9789390678372
  • Category: Biographies & Memoirs
  • Related Category: Biographies
Share this book Twitter Facebook


Suggested Reads
Suggested Reads
Books from this publisher
Pinkushan by Premkiran
Ambedkar Aur Gandhi by Rajesh Kumar
Bouddhik Sampada Sanrakshan Aur Tikau Vikas by
Hanste Rahe Hum Udas Hokar by Kishwar Naheed
San 1919 Ki Ek Baat by Saadat hasan manto
Zinda Kahaniyan by Shashikala Rai
Books from this publisher
Related Books
Dinank Ke Bina Ushakiran Khan
Dinank Ke Bina Ushakiran Khan
Amitabh Bachchan Jeevan Gaatha Pushpa Bharti
Hemwati Nandan Bahuguna : Bharatiya Janchetna Ke Samvahak Prof. Rita Bahuguna Joshi, Dr. Ram Naresh Tripathi
Yogi Adityanath : Drishti-Samvad (5 Volume Set) Hridaynarayan Dikshit, Dr. Arun Kumar Tripathi & Rakesh Kumar Yogi
Narendra Kohli Ke Na Hone Ka Arth Prem Janmejai
Related Books
Bookshelves
Stay Connected