logo
Home Literature Short Stories Meri Priya Kahaniyaan
product-img product-img
Meri Priya Kahaniyaan
Enjoying reading this book?

Meri Priya Kahaniyaan

by Krishan Chander
4.8
4.8 out of 5

publisher
Creators
Author Krishan Chander
Publisher Rajpal
Synopsis कृश्न चन्दर उस दौर के बहुत सफल लेखक थे जब अधिकतर लेखक हिन्दी और उर्दू दोनों ही भाषाओं में लिखते थे। शुरुआत उन्होंने उर्दू से की थी लेकिन भारत-विभाजन के बाद हिन्दी में लिखना शुरू किया। कृश्न चन्दर का बचपन जम्मू के पुंछ क्षेत्र में बीता और उनकी बहुत-सी कहानियां कश्मीर की पृष्ठभूमि पर लिखी गई हैं। वामपंथी विचारधारा वाले कृश्न चन्दर के लेखन में धर्मनिरपेक्षता और मानवीय मूल्यों की झलक मिलती है। यद्यपि कृश्न चन्दर की मुख्य पहचान एक कहानीकार के रूप में है फिर भी 63 वर्ष के अपने जीवन में उन्होंने 30 से अधिक कहानी-संग्रह, 20 उपन्यास, अनेक रेडियो-नाटक और हिन्दी फिल्मों की पटकथाएं भी लिखीं। उनका उपन्यास ‘एक गधे की आत्मकथा' आज भी पाठकों में उतना ही लोकप्रिय है।

Enjoying reading this book?
HardBack ₹225
PaperBack ₹165
Print Books
About the author
Specifications
  • Language: Hindi
  • Publisher: Rajpal
  • Pages: 132
  • Binding: HardBack
  • ISBN: 9789350642276
  • Category: Short Stories
  • Related Category: Novella
Share this book


Suggested Reads
Suggested Reads
Books from this publisher
Khelen Kuden Nache Gayen by Dharmpal Shastri
Daak Bangla by Kamleshwar
Neele Ghore Ka Sawar by Rajendra Mohan Bhatnagar
Kaam Kala Ke Bhed by Acharya Chatursen
Bheedtantra by Asghar  Wajahat
Gobind Gatha by Bhagwatisharan Mishra
Books from this publisher
Related Books
Ek Gadha Nefa Mein Krishan Chander
Ankh ki Chori Krishan Chander
Ek Karore Ki Botal Krishan Chander
Ek Violin Samandar Ke Kinare Krishan Chander
Ek Violin Samandar Ke Kinare Krishan Chander
Ek Karore Ki Botal Krishan Chander
Related Books
Bookshelves
Stay Connected