logo
Home Literature Poetry Meera Ji
product-img
Meera Ji
Enjoying reading this book?

Meera Ji

by Suresh Salil
4.3
4.3 out of 5

publisher
Creators
Author Suresh Salil
Publisher Rajpal
Synopsis इस अत्यंत लोकप्रिय पुस्तक-माला की शुरुआत 1960 के दशक में हुई जब पहली बार नागरी लिपि में उर्दू की चुनी हुई शायरी के संकलन प्रकाशित कर राजपाल एण्ड सन्ज़ ने हिन्दी पाठकों को उर्दू शायरी का लुत्फ़ उठाने का अवसर प्रदान किया। शृंखला की हर पुस्तक में शायर के संपूर्ण लेखन में से बेहतरीन शायरी का चयन है और पाठकों की सुविधा के लिए कठिन शब्दों के अर्थ भी दिये हैं; और साथ ही हर शायर के जीवन और लेखन पर रोचक भूमिका भी है। आज तक इस पुस्तक-माला के अनगिनत संस्करण छप चुके हैं। अब इसे एक नई साज-ज्जा में प्रस्तुत किया जा रहा है। मोहम्मद सनाउल्लाह ‘सानी’ डार (25 मई 1912 - 3 नवम्बर 1949) समृद्ध कश्मीरी परिवार में जन्मे एक आज़ाद फ़ितरत के घुमक्कड़ व्यक्ति थे। उनके आज़ाद ख़यालात उनकी शायरी में भी झलकते हैं। उर्दू में आज़ाद छंद के अग्रदूत माने जाने वाले मीराजी ने शायरी में हिन्दी शब्दों का काफी प्रयोग किया। कहा जाता है कि उन्हें एक बंगाली युवती मीरा सेन से इश्क हो गया था लेकिन यह मोहब्बत एकतरफ़ा थी। अपनी महबूबा के लिए उन्होंने अपना घर-परिवार सब छोड़ दिया यहाँ तक कि अपना नाम भी मीराजी रख लिया और इसी नाम से वे उर्दू शायरी में जाने जाते हैं।

Enjoying reading this book?
Paperback ₹150
Print Books
Digital Books
About the author
Specifications
  • Language: Hindi
  • Publisher: Rajpal
  • Pages: 128
  • Binding: Paperback
  • ISBN: 9789389373301
  • Category: Poetry
  • Related Category: Literature
Share this book Twitter Facebook


Suggested Reads
Suggested Reads
Books from this publisher
Classic Folk Tales From India : Panchatantra Vol III by Rajpal Graphic Studio
Kaali Aandhi by Kamleshwar
Do Mitr by Vishnu Prabhakar
Jeevan Sathi by Satyakam Vidyalankar
Hum Fida-E-Lucknow by Amritlal Nagar
Shiv Se Shankar Tak by Devdutt Pattanaik
Books from this publisher
Related Books
Kavita Sadi Suresh Salil
Majaj Zindagi Aur Shairy Suresh Salil
Lorca Ki Kavitayen Suresh Salil
Iqbal Ki Zindagee Aur Shairee Suresh Salil
Ganesh Shankar Vidyarthi Suresh Salil
Karvaane Gazal Suresh Salil
Related Books
Bookshelves
Stay Connected