logo
Home Nonfiction Biographies & Memoirs Lucknow Mera Lucknow
product-img product-img
Lucknow Mera Lucknow
Enjoying reading this book?

Lucknow Mera Lucknow

by Manohar Shyam Joshi
4.2
4.2 out of 5

publisher
Creators
Publisher Vani Prakashan
Synopsis

Enjoying reading this book?
HardBack ₹250
Print Books
About the author मनोहर श्याम जोशी {9अगस्त 1933 - 30मार्च 2006} आधुनिक हिन्दी साहित्य के श्रेष्ट गद्यकार, उपन्यासकार, व्यंग्यकार, पत्रकार, दूरदर्शन धारावाहिक लेखक, जनवादी-विचारक, फिल्म पट-कथा लेखक, उच्च कोटि के संपादक, कुशल प्रवक्ता तथा स्तंभ-लेखक थे। दूरदर्शन के प्रसिद्ध और लोकप्रिय धारावाहिकों- ' बुनियाद' 'नेताजी कहिन', 'मुंगेरी लाल के हसीं सपने', 'हम लोग' आदि के कारण वे भारत के घर-घर में प्रसिद्ध हो गए थे। वे रंग-कर्म के भी अच्छे जानकार थे। उन्होंने धारावाहिक और फिल्म लेखन से संबंधित ' पटकथा-लेखन' नामक पुस्तक की रचना की है। दिनमान' और 'साप्ताहिक हिन्दुस्तान' के संपादक भी रहे। उन्होंने स्नातक की शिक्षा विज्ञान में लखनऊ विश्वविद्यालय से पूरी की। परिवार में पीढ़ी दर पीढी शास्त्र-साधना एवं पठन-पाठन व विद्या-ग्रहण का क्रम पहले से चला आ रहा था, अतः विद्याध्ययन तथा संचार-साधनों के प्रति जिज्ञासु भाव उन्हें बचपन से ही संस्कार रूप में प्राप्त हुआ जो कालान्तर में उनकी आजीविका एवं उनके संपूर्ण व्यक्तित्व विकास का आधारबना। 1982 में जब भारत के राष्ट्रीय चैनल दूरदर्शन पर उनका पहला नाटक "हम लोग" प्रसारित होना आरम्भ हुआ तब अधिकतर भारतीयों के लिये टेलिविज़न एक विलास की वस्तु के जैसा था। मनोहर श्याम जोशी ने यह नाटक एक आम भारतीय की रोज़मर्रा की ज़िन्दगी को छूते हुए लिखा था -इस लिये लोग इससे अपने को जुडा हुआ अनुभव करने लगे। इस नाटक के किरदार जैसे कि लाजो जी, बडकी, छुटकी, बसेसर राम का नाम तो जन-जन की ज़ुबान पर था।
Specifications
  • Language: Hindi
  • Publisher: Vani Prakashan
  • Pages: 128
  • Binding: HardBack
  • ISBN: 9788170559405
  • Category: Biographies & Memoirs
  • Related Category: Biographies
Share this book


Suggested Reads
Suggested Reads
Books from this publisher
Zakhm Humare by Mohan dass Namishray
Aaj Ke Gham Ke Naam by Faiz Ahmed Faiz
Samkaleen Kavita : Sampreshan Ka Sankat by Pramanand Shrivastav
Badalon Ka Tabadalon Se Sambandh by Jabbar Dhankwala
A Course in Hindi by Dr. P. Jayaraman
Yalgar by Sharankumar Limbale
Books from this publisher
Related Books
Dus Pratinidhi Kahaniyan : Manohar Shyam Joshi Manohar Shyam Joshi
Namaskar Bharat Mera Mahan Manohar Shyam Joshi
Manohar Shyam Joshi Ke Teen Upanyas Manohar Shyam Joshi
Hamzaad Manohar Shyam Joshi
Netaji Kahin Manohar Shyam Joshi
Kasap Manohar Shyam Joshi
Related Books
Bookshelves
Stay Connected