logo
Home Literature Short Stories Kawach
product-img product-imgproduct-img
Kawach
Enjoying reading this book?

Kawach

by Dilbag Singh Virk
4.3
4.3 out of 5
Creators
Author Dilbag Singh Virk
Publisher Anjuman Prakashan
Synopsis इक्कीस कहानियों से सजा संग्रह है “कवच ”| विषय की विविधता इस कहानी-संग्रह की प्रमुख विशेषता है| इस संग्रह में सामाजिक कहानियाँ भी हैं और प्रेम कहानियाँ भी| स्त्री-पुरुष संबंधों का विश्लेषण है, जिसमें स्त्री के प्रति पुरुषों की दकियानूसी सोच को उद्घाटित किया गया है| सोशल मीडिया के जीवन में दखल के बाद पुरुष-स्त्री संबंध जो नया रूप ले रहे हैं, लेखक ने उन्हें बड़ी खूबी से चित्रित किया है| किसानों की दशा का वर्णन है, तो न्याय व्यवस्था की कमियों के चलते दोषपूर्ण सामाजिक फैसलों को अपनाने की बाध्यता भी दिखाई गई है| कहानियों को कहने के लिए लेखक ने संवादात्मक, वर्णनात्मक, प्रतीकात्मक आदि शैलियों को अपनाया है| कहानियों के पात्र आखिरी दम तक वफ़ा निभाने की बात भी करते हैं और प्यार को महज मौज-मस्ती का मौक़ा मानकर भी चलते हैं| दो पाटों के बीच पिसते हुए पात्र भी इस संग्रह में मौजूद हैं| जीवन के विविध रंगों का चित्रण होने के कारण यह कहानी-संग्रह सभी वर्ग के पाठकों को पसंद आएगा|

Enjoying reading this book?
PaperBack ₹150
Print Books
Digital Books
About the author
Specifications
  • Language: Hindi
  • Publisher: Anjuman Prakashan
  • Pages: 110
  • Binding: PaperBack
  • ISBN: 9789386027993
  • Category: Short Stories
  • Related Category: Novella
Share this book Twitter Facebook


Suggested Reads
Suggested Reads
Books from this publisher
pyar na kaho by rajeev ranjan
patrkarita ke geet by abhishek sharma
Seeta ke jane ke baad ram by Dr. Ashok Sharma
rankshetram english by Utkarsh Srivastava
Sach ka ehsas by Dr. kailash nigam
ja-nashin akbar ka hoon main by farmood allahabadi
Books from this publisher
Related Books
roni soorat hasti soorat prem nath singh ghayal
andhere ke beech chitresh
prem ka pahla kon ajay shree
sanyas se pahle ka utpaat niraj kumar tripathi
the hipnotist Dharmendra sajjna
gullak rajesh kumari
Related Books
Bookshelves
Stay Connected