logo
Home Literature Short Stories gullak
product-img product-imgproduct-img
gullak
Enjoying reading this book?

gullak

by rajesh kumari
4.4
4.4 out of 5
Creators
Author rajesh kumari
Publisher Anjuman Prakashan
Synopsis ‘गुल्लक’ लघुकथाओं का संग्रह है| जिसमे कुल इक्यासी लघु कथाएँ हैं| जो सामाजिक ऐतिहासिक अंतर्वस्तु के विभिन्न आयामों में भिन्न-भिन्न कथानकों पर लिखी गई हैं इनके किरदार हमारे इसी समाज की देन हैं| यह लघुकथाएँ मानवीय संवेदनाओं और सरोकारों के साथ अपने विभिन्न स्वरूपों में पाठकों को कुछ सोचने पर विवश करेंगी तथा आज की युवा पीढ़ी अथवा समकालीन पाठकों को नैतिकता और सदाचारी जीवन जीने के लिए प्रेरित करेंगी| जहाँ एक पात्र सामयिक बुराइयों, विषमताओं, अपराधों में लिप्त दिखाई देता है वहीँ दूसरा पात्र समाज की उन्हीं बुराइयों विसंगतियों के साथ द्वंद्व करता दिखाई देता है तथा एक मिसाल कायम करता है| सभी लघु कथाओं में लेखिका ने पाठकों पर एक सकारात्मक प्रभाव छोड़ने का प्रयास किया है|

Enjoying reading this book?
PaperBack ₹140
Print Books
About the author
Specifications
  • Language: Hindi
  • Publisher: Anjuman Prakashan
  • Pages: 140
  • Binding: PaperBack
  • ISBN: 9789386027610
  • Category: Short Stories
  • Related Category: Novella
Share this book Twitter Facebook


Suggested Reads
Suggested Reads
Books from this publisher
bitiya tulsi doob by rajesh srivastava
parlok men satellite by Barun sakhaji
Red Alert by Prabhat Ranjan
Kahin main nirvastra to nahi by Yatindra Manju Pandey
shabd gathariya bandh by arun nigam
hazir hai ehtaram by ehateram islam
Books from this publisher
Related Books
Kawach Dilbag Singh Virk
roni soorat hasti soorat prem nath singh ghayal
andhere ke beech chitresh
prem ka pahla kon ajay shree
sanyas se pahle ka utpaat niraj kumar tripathi
the hipnotist Dharmendra sajjna
Related Books
Bookshelves
Stay Connected