logo
Home Literature Poetry Dilli Mein Uninde
product-img
Dilli Mein Uninde
Enjoying reading this book?

Dilli Mein Uninde

by Gagan Gill
4.5
4.5 out of 5

publisher
Creators
Author Gagan Gill
Publisher Vani Prakashan
Synopsis इस पृथ्वी के एक जीव के नाते मेरे पास ठोस की जकड़ है और वायवीय की माया । नींद है और जाग है। सोये हुए लोग जागते हैं। जागते हुए लोग सोने जाते हैं। लेकिन कुछ ऐसे भी हैं—जो न इधर हैं, न उधर । वे प्रायः नींद से बाहर और स्वप्न के भीतर होते हैं। उनींदे...मैंने स्वयं को अकसर यहीं पाया है... क्या यह मैं हूँ? कविताओं वाली मैं? मैं नहीं जानती। इतना जानती हूँ, जब कविता लिखती हूँ, गहरे जल में होती हैं और तैरना नहीं आता। किस हाल में कौन किनारे पहुँचूँगी-बचूँगी या नहीं-सब अस्पष्ट रहता है। किसी अदृश्य के हाथों में। लेकिन गद्य लिखते हुए मैंने स्वयं को किनारे पर खड़े हुए। पाया है। मैं जो बच गयी हूँ, जो जल से बाहर आ गयी हूँ... गगन गिल की ये गद्य रचनाएँ एक ठोस वस्तुजगत संसार को, अपने भीतर की छायाओं में पकड़ना है। यथार्थ की चेतना और स्मृति का संसार-इन दो पाटों के बीच बहती हुई अनुभव-धारा जो कुछ किनारे पर छोड़ जाती है, गगन गिल उसे बड़े जतन से समेट कर अपनी रचनाओं में लाती हैं-मोती, पत्थर, जलजीव-जो भी उनके हाथ का स्पर्श पाता है, जग उठता है। यह एक कवि का स्वप्निल गद्य न होकर गद्य के भीतर से उसकी काव्यात्मक सम्भावनाओं को उजागर करना है... कविता की आँच में तप कर गगन गिल की ये गद्य रचनाएँ एक अजीब तरह की ऊष्मा और ऐन्द्रिक स्वप्नमयता प्राप्त करती हैं।

Enjoying reading this book?
PaperBack ₹250
HardBack ₹495
Print Books
About the author
Specifications
  • Language: Hindi
  • Publisher: Vani Prakashan
  • Pages: 218
  • Binding: PaperBack
  • ISBN: 9789387155893
  • Category: Poetry
  • Related Category: Literature
Share this book Twitter Facebook


Suggested Reads
Suggested Reads
Books from this publisher
Kaanch Ke Aansoo by Herta Muller
Shahar Mein Curfew Tatha Anya Chaar Upanyas by Vibhuti Narain Rai
Alakh Azadi Ki by Sushil Kumar Singh
Premchand Ki Shreshth Kahaniyan by Dr.Kumar Krishna
Is Basti Mein Kya Rakha Hai by Raghunandan Sharma Tushar
Footpath Par Kamsutra by Abhay Kumar Dubey
Books from this publisher
Related Books
Sansaar Mein Nirmal Verma Gagan Gill
Sansaar Mein Nirmal Verma Gagan Gill
Deh Ki Munder Par Gagan Gill
Deh Ki Munder Par Gagan Gill
Ityadi Gagan Gill
Main Jab Tak Aai Bahar Gagan Gill
Related Books
Bookshelves
Stay Connected