logo
Home Literature Visionary {Religious & Spiritual} Dharm Se Aagey : Sampurna Sansar Ke Liye Naitikta
product-img
Dharm Se Aagey : Sampurna Sansar Ke Liye Naitikta
Enjoying reading this book?

Dharm Se Aagey : Sampurna Sansar Ke Liye Naitikta

by Dalai Lama
4.2
4.2 out of 5

publisher
Creators
Author Dalai Lama
Publisher Radhakrishna Prakashan
Translator Ashutosh Garg
Synopsis परम पूज्य दलाई लामा ने अपनी बहुचर्चित किताब एथिक्स फ़ॉर ए न्यू मिलेनियम में धार्मिक सिद्धान्तों की अपेक्षा वैश्विक सिद्धान्तों पर आधारित नैतिकता को स्थापित करने की प्रस्तावना दी थी। अब बियोन्ड रिलीजन : एथिक्स फ़ॉर ए होल वर्ल्ड पुस्तक में दलाई लामा ने अत्यन्त करुणा से भरे बेबाक अन्दाज़ में ग़ैर-धार्मिक तरीक़े विकसित करने हेतु अपना दृष्टिकोण प्रस्तुत किया है। उन्होंने धार्मिक युद्ध से आगे बढ़कर एक साझा संसार के निर्माण हेतु नीतिगत सिद्धान्तों की प्रणाली की रूपरेखा प्रस्तुत की है, जो धर्म को पूरा सम्मान देती है। आध्यात्मिक और बौद्धिक अधिकार के उच्चतम स्तर के साथ दलाई लामा ने नीति-गत और आनन्दपूर्ण जीवन के मार्ग और समझ-बूझ तथा परस्पर आदर पर आधारित एक वैश्विक मानव-समाज के निर्माण की प्रार्थना की है जिसे वह ‘तृतीय मार्ग’ कहते हैं। बियोन्ड रिलीजन पुस्तक में दलाई लामा ने उन लोगों के लिए रूपरेखा प्रस्तुत की है जो किसी धार्मिक परम्परा से जुड़े बिना इस दुनिया को बेहतर बनाने की दिशा में आगे बढ़ना और आध्यात्मिक आनन्द से पूर्ण जीवन व्यतीत करने की इच्छा रखते हैं।

Enjoying reading this book?
PaperBack ₹199
HardBack ₹495
Print Books
Digital Books
About the author
Specifications
  • Language: Hindi
  • Publisher: Radhakrishna Prakashan
  • Pages: 158
  • Binding: PaperBack
  • ISBN: 9788183619691
  • Category: Visionary {Religious & Spiritual}
  • Related Category: Spirituality
Share this book Twitter Facebook


Suggested Reads
Suggested Reads
Books from this publisher
Yeh Jo Kaya Ki Maya Hai by Priyadarshan
Rashtrabhasha Hindi by Rahul Sankrityayan
Geetanjali by Ravindranath Tagore
Premraag by Anubhooti
Maine Danga Dekha by Manoj Mishra
Cheri Ka Bageecha by Anton Chekhav
Books from this publisher
Related Books
Dharm Se Aagey : Sampurna Sansar Ke Liye Naitikta Dalai Lama
Jeevan Jeene Ki Kala Dalai Lama
Jeevan Jeene Ki Kala Dalai Lama
Mera Desh Nikala Dalai Lama
Mera Desh Nikala Dalai Lama
Related Books
Bookshelves
Stay Connected