logo
Home Literature Classics & Literary Devdas
product-img
Devdas
Enjoying reading this book?

Devdas

by Sharatchand Chatopadhyay
4.1
4.1 out of 5

publisher
Creators
Author Sharatchand Chatopadhyay
Publisher Rajpal
Synopsis देवदास, पारो और चन्द्रमुखी- ये तीन किरदार प्रेम ५के ऐसे प्रतीक बन गये हैं कि उनकी गिनती लैला-मजनू, शीरी-फरहाद, हीर-रांझा के साथ होने लगी है। बीसवीं सदी के बंगाल के ज़मींदार समाज की पृष्ठभूमि में स्थित यह एक मार्मिक प्रेमगाथा है। इसमें देवदास को अपने बचपन की साथी पारो से अटूट प्यार है। लेकिन यह प्यार परवान नहीं चढ़ता। हताश, परेशान देवदास जब शराब को अपना सहारा बना लेता है तब उसकी ज़िन्दगी में आती है चन्द्रमुखी। देवदास और चन्द्रमुखी का रिश्ता अनोखा है- जिसमें प्यार की अनुभूति के विभिन्न रंग एक साथ झलकते हैं। उपन्यास के हर पृष्ठ पर लेखक की गहरी संवेदना, बारीकी से अपने आस-पास के समाज को देखने-परखने की नज़र और इन सबको अपनी कलम से कागज़ पर उतारने की बेजोड़ क्षमता ही कारण है कि 1917 में लिखा यह उपन्यास आज भी पाठकों के बीच इतना लोकप्रिय है। बांगला लेखक शरतचन्द्र चट्टोपाध्याय के इस लोकप्रिय उपन्यास का अनेक भाषाओं में अनुवाद हो चुका है और भारत में ही इस पर कई भाषाओं में एक दर्जन से अधिक फिल्में बन चुकी हैं।

Enjoying reading this book?
PaperBack ₹165
Print Books
Digital Books
About the author
Specifications
  • Language: Hindi
  • Publisher: Rajpal
  • Pages: 112
  • Binding: PaperBack
  • ISBN: 9788174831767
  • Category: Classics & Literary
  • Related Category: Classics
Share this book Twitter Facebook


Suggested Reads
Suggested Reads
Books from this publisher
Bhartiya Rajyon Ka Vikas by Amartya Sen
Classic Folk Tales From India : Panchatantra Vol V by Rajpal Graphic Studio
Chaat by Sanjeev Kapoor
Bharatiya Sangeet Ki Kahani by Bhagwatsharan Upadhyay
Jungle Ke Phool by Rajendra Awasthi
Lokpriya Shayar Aur Unki Shayari - Sardar Jafri by Prakash Pandit
Books from this publisher
Related Books
Agni Astra Roberto Arlt
Virakt Amlendu Tewari
Jungle Ke Phool Rajendra Awasthi
Jungle Ke Phool Rajendra Awasthi
Shesh Prashn Sharatchand Chatopadhyay
Gora Ravindranath Tagore
Related Books
Bookshelves
Stay Connected