logo
Home Nonfiction Biographies & Memoirs Bhupen Khakhkhar : Ek Antrang Sansmaran
product-img
Bhupen Khakhkhar : Ek Antrang Sansmaran
Enjoying reading this book?

Bhupen Khakhkhar : Ek Antrang Sansmaran

by Sudhir Chandra
4
4 out of 5

publisher
Creators
Author Sudhir Chandra
Publisher Rajkamal prakashan, raza foundation
Synopsis भूपेन पर पहली किताब महेन्द्र देसाई ने लिखी। गाढ़े दोस्त थे भूपेन और महेन्द्र। लिखने वाला हो महेन्द्र जैसा औघड़, और लिखा जा रहा हो भूपेन जैसे खिलन्दड़े और उस की कला पर, तो किताब असामान्य होनी ही थी। हुई। विलक्षण, मस्त, अपने विषय की आत्मा में प्रवेश करने को आतुर और, उसी कारण, अपनी विश्वसनीयता के प्रति लापरवाह। अकारण नहीं कि इस से बिलकुल उलट संवेदना से लैस अँग्रेज़ टिमथी हाइमन ने महेन्द्र की किताब से बहुत कुछ पाने के बावजूद महेन्द्र के वर्णन को 'गार्बल्ड’ कहा। काश! मैं भी देखने, सोचने और लिखने में महेन्द्र जैसा दुस्साहस बरत पाता। भूपेन पर दूसरी किताब है इन्हीं टिमथी हाइमन की। ब्रिटिश कलाकार, कला मर्मज्ञ और भूपेन के परम मित्र। एक पारखी की पैनी नज़र है टिमथी की किताब में। ऐसी किताब भी नहीं लिख पाऊँगा मैं। फिर भी लिख रहा हूँ। महेन्द्र जैसा फक्कड़ी सृजनशील न सही, दुस्साहस तो है ही मेरे इस प्रयास में। दोषी दरअसल भूपेन है। अपने जीते जी देश और विदेश में होने वाली अपनी प्रदर्शनियों के आधे दर्जन ब्रोशर मुझ से लिखवा कर बगैर कुछ कहे समझा गया कि मण्डन मिश्र के तोता-मैना शास्त्रार्थ कर सकते थे तो मैं अपने दोस्त के अन्तरंग संस्मरण तो लिख ही सकता हूँ। 23 साल की निरन्तर गहराती दोस्ती रही भूपेन के साथ। अनेक रूप देखे उस के। उन सब के बेबाक विवरण हैं यहाँ। वह भी है जो इस किताब को लिखने के दौरान जाना : कि भूपेन नितान्त विलक्षण लेखक है और उस के साहित्य के साथ न्याय नहीं हुआ है। —इसी पुस्तक से

Enjoying reading this book?
HardBack ₹1995
PaperBack ₹999
Print Books
About the author
Specifications
  • Language: Hindi
  • Publisher: Rajkamal prakashan, raza foundation
  • Pages: 286
  • Binding: HardBack
  • ISBN: 9789389577556
  • Category: Biographies & Memoirs
  • Related Category: Biographies
Share this book Twitter Facebook


Suggested Reads
Suggested Reads
Books from this publisher
Paryavaran Ke Path by Anupam Mishra
Chirag-E-Dair by Mirza Ghalib
Gaganvat : Sanskrit Muktakon Ka Sweekaran by Mukund Laath
Gandhi Aur Akathaniya : Satya Ke Sath Unka Antim Prayog by James W. Douglass
Bhavan : Sahitya Aur Anya Kalaon Ka Anushilan by Mukund Laath
Bandi Jeevan Aur Anya Kavitayen by Agyey
Books from this publisher
Related Books
Sur Sansar Sudhir Chandra
Sur Sansar Sudhir Chandra
Bhupen Khakhkhar : Ek Antrang Sansmaran Sudhir Chandra
Gandhi Ek Asambhav Sambhavna Sudhir Chandra
Rakhmabai : Stree Adhikar Aur Kanoon Sudhir Chandra
Gandhi Ek Asambhav Sambhavna Sudhir Chandra
Related Books
Bookshelves
Stay Connected