logo
Home Literature Literature Beech Prem Mein Gandhi
product-img
Beech Prem Mein Gandhi
Beech Prem Mein Gandhi
by Santosh Choubey
4.1
4.1 out of 5
Creators
Author Santosh Choubey
Publisher Vani Prakashan
Synopsis सन्तोष चौबे की कहानियाँ नए ढंग की किस्सागोई के साथ पाठक के सामने आती हैं। इस कहानियों में लेखक ने अपने विलक्षण अनुभवों को जिस रौचक, आत्म-व्यंग्य लहजे और पैनेपन के साथ प्रस्तुत किया है, उसने एक नये आस्वाद के साथ-साथ एक नया सौन्दर्य और संस्कार भी प्रदान किया है। जीवननुभावों की अनेक परतों को उद्घाटित करती इन कहानियों का मिजाज समकालीन कथा साहित्य को एक दूसरे धरातल पर ले जाता नज़र आता है। ये कहानियाँ किसी भ्रम का शिकार नहीं हैं बल्कि ‘प्रकृति की परिवर्तनशीलता’ सिद्धान्त का ही अनुसरण करती हैं, इन पर न तो किसी तरह का कोई कलावाद हवी है, और न ही ये किसी वैचारिकता के लबादे में लिपटी हुई हैं। अपने तरह के आस्वाद से परिपूर्ण और अपने नये मिजाज की ये कहानियाँ पाठक के अन्तर्मन में गहरे तक उतर जाती हैं।

HardBack ₹475
PaperBack ₹195
Print Books
About the author Not Available
Specifications
  • Language: Hindi
  • Publisher: Vani Prakashan
  • Pages: 208
  • Binding: HardBack
  • ISBN: 9789350728345
  • Category: Literature
  • Related Category: Literature
Share this book
Books from this publisher
Bhartiya Bhashaon Mein Ramkatha(Awadhi Bhasha) by Dr.Yogendra Pratap Singh
Hindi Rangmanch Ki Lokdhara by Javed Akhtar Khan
Adhoori Kahani by Vishnu Prabhakar
Abhinay Natak Manch by Sombhu Mitra
Hindi Vigyapan : Sanrachana Aur Prabhav by Dr. Sumit Mohan
Yoon He… by Akhilesh Kumar Mishra
Books from this publisher
Related Books
Rashtravad Ka Ayodhyakand Ashish Nandi
Aadhi Raat Ki Santanen Salman Rushdie
Bhasah Chintan Hindi BCH
Gandhi Ki Ahimsa Drishti Manoj Kumar
Os Ki Prithavi Teen Japani Haiku Kavi Sourav Roy
Devishankar Awasthi Rachnawali (1-4 Volume Set) Edited by Rekha Awasthi
Related Books
Bookshelves
Stay Connected