logo
Home Literature Poetry Aawaz Chali Aati Hai
product-img product-img
Aawaz Chali Aati Hai
Enjoying reading this book?

Aawaz Chali Aati Hai

by Shaz Tamakanat
4.3
4.3 out of 5

publisher
Creators
Author Shaz Tamakanat
Publisher Vani Prakashan
Synopsis ‘आवाज़ चली आती है’ दखन के सुप्रसिद्ध शायर शाज़ तमकनत का काव्य संग्रह है। इस संग्रह में उनकी प्रतिनिधि ग़ज़लों और नज़्मों का चुनाव किया गया है। आधुनिक उर्दू कविता में शाज़ तमकनत अपने समय के सुप्रसिद्ध कवियों में स्वयं को दर्ज करवाते हैं। दखन के नामी-गिरामी शायरों में शाज़ का शुमार होता है। पारम्परिक और आधुनिक कविता के बीच जिस सेतु का निर्माण शाज़ तमकनत ने किया वह स्वयं में एक युग की स्वीकृति लिये हुए है। इनकी ग़ज़लों और नज़्मों में जहाँ निजी ज़िन्दगी के दुख-दर्द दिखाई देते हैं वहीं उनका दुख सार्वजनीन आत्मचेतना के रूप में अनुभव किया जा सकता है। यहीं ग़मे जानां और ग़मे दौरा दोनों का संगम शाज़ के रचना संसार की पहचान बनकर उभरता है और 21वीं सदी में उर्दू साहित्य के जरिये शायरी के क्षेत्र में एक आवाज़ चली आती है।

Enjoying reading this book?
HardBack ₹275
PaperBack ₹125
Print Books
About the author
Specifications
  • Language: Hindi
  • Publisher: Vani Prakashan
  • Pages: 182
  • Binding: HardBack
  • ISBN: 9789350001769
  • Category: Poetry
  • Related Category: Literature
Share this book
Suggested Reads
Suggested Reads
Books from this publisher
Buniyaad by Manohar Shyam Joshi
Bollywood Selfie by Anant Vijay
Shreshtha Hindi Kahaniyan : Bhag Do by
Vanaspati Jagat Ki Aascharyajanak Baten by Dr.Ramkrisna Vajpeyi ,Dr.Amar Kaur
Bhartiya Rashtriya Aandolan Aur Rashtravad by Irfan Habib
Yeh Dukh : Yeh Jeevan by Taslima Nasreen
Books from this publisher
Related Books
Ishq Musaafir Tanveer Ghazi
Azadee Ke Pahale Azadee Ke Baad Inder Bahadur Khare
Sham Hone Wali Hai Shahryar
Yah Aakanksha Samay Nahin Gagan Gill
Jalte Hue Van Ka Vasant Dushyant Kumar
Kirishnadharma Main Prabha Khetan
Related Books
Bookshelves
Stay Connected