logo
Namvar Singh जन्म-तिथि : 28 जुलाई, 1926। जन्म-स्थान : बनारस जिले का जीयनपुर नामक गाँव। प्राथमिक शिक्षा बगल के गाँव आवाजापुर में। कमालपुर से मिडिल। बनारस के हीवेट क्षत्रिय स्कूल से मैट्रिक और उदयप्रताप कालेज से इंटरमीडिएट। 1941 में कविता से लेखक जीवन की शुरुआत। पहली कविता इसी साल 'क्षत्रियमित्र’ पत्रिका (बनारस) में प्रकाशित। 1949 में काशी हिन्दू विश्वविद्यालय से बी.ए. और 1951 में वहीं से हिन्दी में एम.ए.। 1953 में उसी विश्वविद्यालय में व्याख्याता के रूप में अस्थायी पद पर नियुक्ति। 1956 में पी-एच.डी. ('पृथ्वीराज रासो की भाषा’)। 1959 में चकिया चन्दौली के लोकसभा चुनाव में भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के उम्मीदवार। चुनाव में असफलता के साथ विश्वविद्यालय से मुक्त। 1959-60 में सागर विश्वविद्यालय (म.प्र.) के हिन्दी विभाग में असिस्टेंट प्रोफेसर। 1960 से 1965 तक बनारस में रहकर स्वतन्त्र लेखन। 1965 में 'जनयुग’ साप्ताहिक के सम्पादक के रूप में दिल्ली में। इस दौरान दो वर्षों तक राजकमल प्रकाशन (दिल्ली) के साहित्यिक सलाहकार। 1967 से 'आलोचना’ त्रैमासिक का सम्पादन। 1970 में जोधपुर विश्वविद्यालय (राजस्थान) के हिन्दी विभाग के अध्यक्ष-पद पर प्रोफेसर के रूप में नियुक्त। 1971 में 'कविता के नए प्रतिमान’ पर साहित्य अकादेमी का पुरस्कार। 1974 में थोड़े समय के लिए क.मा.मुं. हिन्दी विद्यापीठ, आगरा के निदेशक। उ8सी वर्ष जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (दिल्ली) के भारतीय भाषा केन्द्र में हिन्दी के प्रोफेसर के रूप में योगदान। 1987 में वहीं से सेवा-मुक्त। अगले पाँच वर्षों के लिए वहीं पुनर्नियुक्ति। 1993 से 1996 तक राजा राममोहन राय लाइब्रेरी फाउंडेशन के अध्यक्ष। फिलहाल महात्मा गांधी अन्तर्राष्ट्रीय हिन्दी विश्वविद्यालय, वर्धा के कुलाधिपति तथा आलोचना त्रैमासिक के प्रधान सम्पादक।

image
Acharya Hazari Prasad Dwivedi Ki Jai Yatra by Namvar Singh ₹550
image
Kashi Ke Naam by Namvar Singh ₹450
image
Itihas Aur Aalochana by Namvar Singh ₹399
image
Karl Marx : Kala Aur Sahitya Chintan by Namvar Singh ₹595
image
Chhayawad by Namvar Singh ₹395
image
Kavita ke naye partiman by Namvar Singh ₹595
image
Aalochak Ke Mukh Se by Namvar Singh ₹300
image
Shrilal Shukla Sanchayita by Namvar Singh ₹550
image
Doosari Parampra Ki Khoj by Namvar Singh ₹295
image
Doosari Parampra Ki Khoj by Namvar Singh ₹160
image
Zamane Se Do Do Hath by Namvar Singh ₹595
image
Premchand Aur Bhartiya Samaj by Namvar Singh ₹495
image
Hindi Ka Gadhyaparv by Namvar Singh ₹695
image
kavita Ki zameen Aur Zameen Ki Kavita by Namvar Singh ₹550
image
Sahitya Ki Pahachan by Namvar Singh ₹450
image
Sath Sath by Namvar Singh ₹250
image
Sammukh by Namvar Singh ₹450
image
Aalochana Aur Vichardhara by Namvar Singh ₹450
image
Prarambhik Rachanayen by Namvar Singh ₹450
image
Hindi Samiksha Aur Acharya Shukla by Namvar Singh ₹400
image
Ramchandra Shukla Rachanawali : Vols. 1-8 by Namvar Singh ₹8800
image
Ramchandra Shukla Rachanawali : Vols. 1-8 by Namvar Singh ₹3000
image
Prithveeraj Raso : Bhasha Aur Sahitya by Namvar Singh ₹595
image
Wad Vivad Samwad by Namvar Singh ₹395
image
Hindi Ke Vikas Mein Apbhransh Ka Yog by Namvar Singh ₹350
image
Aadhunik Sahitya Ki Pravritiyan by Namvar Singh ₹225
image
Kahani Nai Kahani by Namvar Singh ₹300
image
Poorva-Rang by Namvar Singh ₹395
image
Ramvilas Sharma by Namvar Singh ₹695
image
Chhayavad : Prasad, Nirala, Mahadevi Aur Pant by Namvar Singh ₹595
image
Dwabha by Namvar Singh ₹695
image
DUSRI PARAMPARA KI KHOJ by NAMVAR SINGH ₹195
image
Aamne-Saamne by Namvar Singh ₹695
image
Sahitya Ki Pahachan by Namvar Singh ₹450
image
Tumhara Namvar by Namvar Singh ₹595
image
Sang Satsang by Namvar Singh ₹995
image
Kitabnama by Namvar Singh ₹1295
image
Jeevan Kya Jiya : Baate Kuchh Apni, Kuchh Apno Ki by Namvar Singh ₹995
Bookshelves